समिट बिल्डिंग में अश्लीलता परोस रहे बार संचालक, पुलिस चुप

Advertisement

लखनऊ। राजधानी में बार संचालन के नाम पर अश्लीलता परोसी जा रही है। एक तरफ जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ महिलाओं के अधिकार, सुरक्षा व आत्मनिर्भरता पर अभियान चलाकर महिला सशक्तिकरण पर जोर देते हैं। वहीं दूसरी ओर राजधानी में आबकारी विभाग के अधिकारी सरकार के छवि को गिराने के साथ सीएम के मंशा पर भी पानी फेर रहे हैं।

Advertisement

विभूतिखंड स्थित समिट बिल्डिंग में बार संचालन के नाम पर गलत काम हो रहे हैं। जिला आबकारी अधिकारी सुशील कुमार मिश्रा व आबकारी निरीक्षक हिम्मत सिंह की शह पर निर्धारित समय के बजाय देर रात तक बार संचालन हो रहे हैं। बार में नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही। नाबालिग युवतियां शराब परोसने का कार्य कर रही है। नाबालिग युवतियों के डांस सोशल मीडिया पर वायरल होने पर यह चर्चा फिर से शुरू हो गई है बिना लाइसेंस के बार बालाओं का डांस न केवल कानूनी रूप से गलत है।

Advertisement

बार में आये दिन मारपीट से लेकर छेड़छाड़,अभद्रता की घटना आम बात हो गयी है। मामला संज्ञान में आने के बाद भी आबकारी के जिम्मेदार नजरअंदाज कर बार की जांच करने की जरुरत तक नहीं समझते हैं ।अब तक तीस से अधिक मारपीट की घटनाएं हो चुकी हैं। 13वें तल पर माय बार हेड क्वार्टर के अंदर युवक-युवतियों का जमावड़ा एक-दूसरे को धक्का मारते हुए लोग भीतर प्रवेश करते हैं। युवतियों पर फब्तियां कसने से लेकर उन्हें धक्का देने में भी नशेबाज संकोच नहीं करते हैं।

15वें तल पर अनप्लग्ड, फायर फ्लाई और डिस्टिलरी बार में महिला सशक्तिकरण का खुला उल्लंघन कर अश्लीलता को तार तार किया जाता है। अनप्लग्ड बार के बाहर एक युवक की पिटाई भी हो चुकी हैं। समिट बिल्डिंग के भूतल से लेकर 15वें तल तक कुल 13 बार हैं, जहां रातभर नाबालिग बालाओं का डांस चलता है। इस सम्बन्ध में आबकारी आयुक्त सेंथिल पाण्डियन सी का कहना है कि बार में अश्लीलता परोसना गंभीर मामला है। इसकी जांच होगी। जांच में दोषी बार संचालक का लाइसेंस कैंसिल करने के साथ संबंधित अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी ।

यह भी पढ़ें- लखनऊ: समिट बिल्डिंग में बाउंसर-मैनेजर के बीच हुई मारपीट, मची भगदड़

Advertisement