संजय मांजरेकर ने टेस्ट मैच में खराब प्रदर्शन के चलते शार्दुल पर दिया ये बयान, पंत को बताया धोनी जैसा कप्तान

Sanjay Manjrekar: भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गये पांचवे टेस्ट मैच में इंडियन टीम को हार का सामना करना पड़ा. भारतीय टीम ने मैच में काफी अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद 7 विकेट से मैच को गवां दिया. इस हार की वजह से टीम को सीरीज में ड्रा से संतोष करना पड़ा और जीत का सपना पूरा नहीं कर सके. ऐसे में टीम इंडिया के पूर्व बल्लेबाज़ संजय मांजरेकर ने इंडियन टीम के दो खिलाडियों पर बड़ा बयान दिया है. टीम के विकेटकीपर बल्लेबाज़ ऋषभ पन्त की उन्होंने तारीफ की लेकिन शार्दुल ठाकुर पर उन्होंने नाराजगी जाहिर की है.

Sanjay Manjrekar ने कहा ये वो गेंदबाज़ है ही नहीं

Shardul Thakur

लार्ड ठाकुर के नाम से मशहूर संजय मांजरेकर इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में पुरे तरह से फ्लॉप साबित हुए है. उनका गेंद और बल्ले दोनों से प्रदर्शन फीका रहा है. पूर्व खिलाड़ी संजय मांजरेकर (Sanjay Manjrekar) का कहना है कि शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) में अब पहली जैसी बात नहीं है. SonyLIV के एक क्रिकेट शो में उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि शार्दुल अब वो गेंदबाज़ नहीं हैं, जिन्हे हमने टेस्ट क्रिकेट में पहले देखा था, शायद 18 महीने पहले.” भारत के 56 वर्षीय पूर्व बल्लेबाज ने मोहम्मद सिराज के बारे में बात करते हुए कहा, “मैं एक गेंदबाज के रूप में मोहम्मद सिराज के विकास को देख रहा हूं। सीम-अप डिलीवरी अभी हुई है.

“पंत बकबक नहीं करते और अब गंभीर रहते है”

Rishabh Pant

गेंदबाजी की आलोचना करने के बाद संजय मांजरेक (Sanjay Manjrekar) ने टीम इंडिया के विक्के कीपर बल्लेबाज़ ऋषभ पंत की काफी प्रसंशा की है. उन्होंने कहा ही की पंत ने उनको काफी प्रभावित किया है. साथ ही वो अब अपनी विचकट कीपिंग पर भी ज्यादा ध्यान दे रहे है. संजय मांजरेकर ने कहा, “इसमें कोई शक नहीं है कि पंत ने बैटिंग से प्रभावित किया. उन्होंने खुद को एक संभावित दिग्गज के रूप में स्थापित किया है जिसे हम देख रहे हैं. 5 शतक और उनमें से घर पर सिर्फ एक तथा बाकी विदेश में आना अविश्वसनीय है. लेकिन मैं सिर्फ उनकी कीपिंग की बात करना चाहता हूं, उनकी बल्लेबाजी के बारे में बहुत कुछ बोला गया है.”

उन्होंने पन्त की विकेटकीपिंग पर भी बात करते हुए कहा, “मुझे (Sanjay Manjrekar) बस इतना पसंद है कि उन्होंने उस काम को कितनी गंभीरता से लिया है. क्योंकि बल्ले से अच्छा प्रदर्शन करने के बाद आप कभी-कभी आराम कर सकते हैं. मैं एक विकेटकीपर के रूप में उनकी क्षमता को लेकर थोड़ा संशय में था, खासकर इस तरह की परिस्थितियों में. लेकिन उन्होंने न केवल मुझे लेकिन सभी को प्रभावित किया है.

पाचवें टेस्ट में मिली 7 विकेट से शानदार जीत

संजय मांजरेकर ने टेस्ट मैच में खराब प्रदर्शन के चलते शार्दुल पर दिया ये बयान, पंत को बताया धोनी जैसा कप्तान

आखरी और निर्णायक टेस्ट मैच में इंग्लैंड की टीम की शुरुआत कोई शानदार नहीं रही. इंडियन टीम पहली पारी में ऋषभ पन्त और रविन्द्र जडेजा की शतकीय पारी की बदौलत 416 रन बनाने में कामयाब रही. जेम्स एंडरसन ने 5 विकेट अपने किये थे. इसके बाद इंग्लैंड पहली पारी में इंडिया की तेज़ गेंदबाजी के आगे असहज नज़र आई और बेयरस्टो के शतक के बावजूद सिर्फ 284 रन पर ढेर हो गयी. दूसरी पारी में इंडिया की बल्लेबाज़ी ख़राब रही और पूरी टीम सिर्फ पुजारा और पंत के अलावा बल्लेबाज़ी में फ्लॉप साबित हुए और सिर्फ 245 रन ही बना सके. चौथी पारी में इंग्लैंड को 370 से भी ज्यादा का टारगेट मिला था और उन्होंने बहुत ही बेहतरीन बल्लेबाजी के साथ जो रूट (Joe Root) और बेयरस्टो के शतकों के दम पर मैच में 7 विकेट से जीत हासिल की.

और पढ़िए:

इंग्लैंड के खिलाफ टीम इंडिया की ये गलतियाँ पड़ी भारी, सीरीज जीतने का सपना हुआ चूर

बर्मिंघम टेस्ट में शतक लगा जो रूट निकले विराट कोहली से आगे, फैब फोर में भी बने नंबर 1

“ये फैसला पागलपन भरा रहा …” चौथे दिन बुमराह की कप्तानी पर पूर्व दिग्गज का आया ये बड़ा बयान