श्रीलंकाई राष्ट्रपति ने मुश्किल समय में ‘दोस्ती कायम’ रखने के लिए चीनी समकक्ष को दिया धन्यवाद

0
17

कोलंबो। श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने मौजूदा मुश्किल समय में ‘मित्रता कायम रखने के लिए’ सोमवार को चीन की सराहना की। इसके साथ ही उन्होंने चीनी समकक्ष शी चिनफिंग को उनके जन्मदिन पर बधाई देने के लिए धन्यवाद दिया। राजपक्षे का जन्म 20 जून 1949 को हुआ था। राजपक्षे ने ट्वीट किया, ‘‘जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं देने के लिए राष्ट्रपति शी चिनफिंग का धन्यवाद।

Advertisement

श्रीलंका के लोगों के साथ ही मैं चीन को उसकी निरंतर मित्रता के लिए भी धन्यवाद देना चाहता हूं, खासकर इन कठिन समय के दौरान। हमारे दोनों देशों के बीच संबंध और मजबूत हों।” वह श्रीलंका के सबसे खराब आर्थिक संकट से गुजरने और चीन के बकाया ऋण के पुनर्गठन के लिए श्रीलंका के प्रयासों का जिक्र कर रहे थे। शी ने राजपक्षे के जन्मदिन पर उन्हें एक पत्र भेजा और मौजूदा स्थिति के मद्देनजर “स्वतंत्रता, आत्मनिर्भरता, एकता और परस्पर सहयोग” की भावना को रेखांकित किया।

शी ने अपने पत्र में लिखा कि चीन हमेशा श्रीलंका को अपना समर्थन देने के लिए तैयार है। उन्होंने लिखा, “वर्ष 2022 चीन और श्रीलंका के राजनयिक संबंधों की 65वीं वर्षगांठ है। हम 65 वर्ष से एक-दूसरे को समझ रहे हैं और एक-दूसरे का समर्थन कर रहे हैं। मैं अपने संबंधों को आगे बढ़ाने को बहुत महत्व देता हूं और इसे नई ऊंचाई पर ले जाने के लिए प्रयास जारी रखूंगा।” श्रीलंका 1948 में ब्रिटेन से आजादी के बाद से पहली बार अभूतपूर्व आर्थिक संकट से जूझ रहा है और इस संकट ने देश में राजनीतिक अशांति भी पैदा कर दी है। श्रीलंका में आर्थिक संकट को लेकर अप्रैल से ही सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं।

ये भी पढ़ें:- Colombia: गुस्तावो पेट्रो ने जीता राष्ट्रपति चुनाव, तीसरे प्रयास में मिले 50.51 फीसदी वोट