शिक्षिका पर कड़ी कार्रवाई के बजाय बचाने में लगे अधिकारी…

0
37

बरेली,अमृत विचार। इन दिनों जनपद भर के परिषदीय स्कूलों में ताबड़तोड़ छापामारी कर शिक्षकों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है, ताकि स्कूली व्यवस्थाओं को सुदृढ़ और अनुशासित किया जा सके। वहीं दूसरी ओर पिछले वर्ष नवंबर महीने से बगैर सूचना के स्कूल से लगातार अनुपस्थित रहने वाली शिक्षिका पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Advertisement

इस मामले की जांच कर रहे अधिकारी शिक्षिका की अनुशासनहीनता पर पर्दा डालने में लगे हुए हैं। भोजीपुरा ब्लॉक के चटिया जगन्नाथ क्षेत्र स्थित प्राथमिक स्कूल में बतौर प्रधानाध्यापक संगीता कुमारी काफी समय से अनुपस्थित चल रही हैं। हालांकि इसके बाद दिसंबर में वह बीच में एक दिन स्कूल पहुंच कर दो-चार दिन की हाजिरी रजिस्टर पर भर गई हैं।

शिक्षिका बगैर विभाग को सूचित किए ही लगातार अनुपस्थित चल रही हैं। इस घटना की जानकारी होने पर बीएसए ने मीरगंज ब्लॉक के खंड शिक्षा अधिकारी अमन गुप्ता को विधिवत जांच के निर्देश दे दिए थे। बीएसए की ओर से जांच के निर्देश दिए लगभग तीन हफ्ते का समय बीत चुका है, लेकिन अभी तक शिक्षिका द्वारा अनुशासनहीनता पाए जाने के बावजूद कोई ठोस कार्रवाई नहीं की गई है।
बीईओ ने सौंपी जांच आख्या के साथ साक्ष्य

शिक्षिका की घटना के उजागर होने पर बीईओ शीतल श्रीवास्तव ने बीएसए के निर्देश पर स्कूल पहुंच कर उपस्थित पंजिका समेत सहयोगी शिक्षकों से भी शिक्षिका के अनुपस्थित रहने की जानकारी की थी। मौके पर मिले उपस्थित पंजिका पर शिक्षिका के पिछले वर्ष दिसंबर माह से ही हाजिरी नहीं लगी है। बल्कि सूत्रों के मुताबिक इससे कई माह पहले से ही शिक्षिका नदारद चल रही हैं। सहयोगी शिक्षकों ने भी बीईओ को पत्र लिखकर शिक्षिका की करतूत के बारे में स्पष्ट बता दिया है।

शिक्षिका का बयान ही कार्रवाई

सूत्रों के मुताबिक शिक्षिका गाजियाबाद रहती हैं। अधिकारियों ने बीएसए को जांच रिपोर्ट सौंप दी है। इसमें शिक्षिका के विरुद्ध अनुशासनहीनता और घोर लापरवाही का आरोप लगाया गया है। बावजूद जांच अधिकारियों ने शिक्षिका की पारिवारिक समस्याओं के आधार पर अवकाश देने की संस्तुति कर दी है। उपस्थिति पंजिका, सहयोगी शिक्षकों के बयान और छात्रों व अभिभावकों के बयान के बावजूद शिक्षिका पर अधिकािरियों का ढीला रवैया अधिकारियों की कार्यप्रणाली को संदेह के घेरे में खड़ा कर रहा है।

लंबे समय से अनुपस्थित चल रही शिक्षिका का मामला संज्ञान में आया है। इसकी जांच में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होगी, बल्कि शिक्षिका के विरुद्ध पर्याप्त साक्ष्य होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस संबंध बीएसए को पत्र जारी कर जरूरी सूचनाएं मांगी जा रही हैं।—गिरिवर सिंह, एडी बेसिक

बीएसए के निर्देश पर शिक्षिका के अनुपस्थित रहने की जांच की गई है। शिक्षिका का कहना है कि पारिवारिक समस्याओं की वजह से वह स्कूल नहीं आ पा रही है। उन्हें अवैतनिक अवकाश देने की संस्तुति की गई है।—अमन गुप्ता, जांच अधिकारी, बीईओ मीरगंज

शिक्षिका की अनुपस्थित होने का मामला उजागर होने पर विधिवत निरीक्षण किया गया और आवश्यक दस्तावेजों समेत रिपोर्ट तैयार कर बीएसए को सौंप दिया गया है।—शीतल श्रीवास्तव, बीईओ, भोजीपुरा

ये भी पढ़ें-

बरेली: ठगों ने गैस एजेंसी मालिक के खाते से उड़ाए 75 लाख रुपये