विष्णुप्रिया अपराजिता के पौधे को लगाने से घर में आती है धन दौलत ,जानिए इसे लगाने की सही दिशा

वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में पॉजिटिव एनर्जी का प्रवाह बनाए रखने के लिए पौधे अहम भूमिका निभाते है ये घर में मौजूद कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर वातावरण का शुद्ध रखते है वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसे पौधों का जिक्र किया गया है जो पॉजिटिव एनर्जी का संचार करते है इन पौधों में तुलसी मनी प्लांट शमी जैसे पौधे शामिल है इसके अलावा एक और पौधा जिसके फूल भगवान विष्णु को बहुत प्रिय है दरअसल अपराजिता के पौधे को विष्णु प्रिय भी कहा जाता है मान्यता है की विष्णु प्रिय अपराजिता के फूल भगवान विष्णु को अर्पित करने से उनकी विशेष कृपा प्राप्त होती है 

PIC
वास्तु शास्त्र के अनुसार अपराजिता के पौधे को गमला में लगाया जा सकता है विष्णुप्रिया अपराजिता को घर के परिसर में पूर्व -उत्तर के कोण में लगाना सबसे उपयुक्त होता है इसके अलावा इसे घर की उत्तर दिशा में भी लगाया जा सकता है मान्यता है की इस दिशा में लगाने से घर में धन आती है वास्तु के अनुसार अपराजिता के पौधे को दक्षिण या पश्चिम दिशा में नहीं लगाना चाहिए 
वास्तु शास्त्र और ज्योतिष में भी इसका जिक्र किया गया है अपराजिता पौधे के बारे में कहा जाता है की जिस प्रकार इसकी बेल बढ़ती है उसी प्रकार घर की उन्नति होती है अपराजिता के पौधे को फरवरी या मार्च के महीने में लगाना अच्छा रहता है 

PIC
अपराजिकता के नील और सुंदर फूल शनि देव को भी अर्पित किए जाते है माना जाता है की शनिदेव को अपराजिता के फूल अर्पित करने से शनि की ढैय्या ,साढ़ेसाती सहित शनि के अन्य दोषों से राहत मिलती है इसके अलावा शनिवार के दिन शनि देव को अपराजिता का फूल चढ़ाना शुभ होता है