विशेष के परिजनों ने लगाया स्कूल के खिलाफ लापरवाही का आरोप, स्कूल को बंद करने की मांग

0
17

Advertisement

बरेली, अमृत विचार। बीसलपुर रोड स्थित एसआर इंटरनेशलन स्कूल में खेल के दौरान सिर में चोट लगने से 12 वर्षीय छात्र विशेष श्रीवास्तव निवासी रामवाटिका कॉलोनी की मौत हो गई। छात्र की मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। बुधवार को छात्र का विधिवत अंतिम संस्कार किया गया। इस मामले में छात्र की मां ने स्कूल प्रबंधन पर घोर लापरवाही का आरोप लगाते हुए स्कूल को बंद कराने की मांग की है। जानकारी के मुताबिक शनिवार को खेल पीरियड के दौरान बच्चें स्कूल के मैदान में खेल रहे थे। वहीं विशेष अपने दोस्तों के साथ बास्केटबॉल कोर्ट में करीब 5 फीट ऊंचाई का रखा स्केटिंग बॉल पोल से खेलने लगा और नीचे गिर गया। बच्चे के गिरने के साथ ही पोल भी उस पर आ गिरा।

Advertisement

इसके बाद बच्चे की हालत बिगड़ने लगी और आनन फानन में बच्चे को पीलीभीत बाइपास स्थित एक निजी अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया। यहां अस्पताल में बच्चे की स्थिति बिगड़ते देख परिजन उच्चस्तरीय अस्पताल में उपचार कराने के लिए दिल्ली ले गए। वहां के चिकित्सकों ने बच्चे की गंभीर स्थिति को देखते हुए बरेली ही ले जाने के लिए कह दिया। वहां से दोबारा बच्चे को गंभीर स्थिति में यहीं के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन चिकित्सकों के कड़े प्रयासों के बावजूद विशेष ने मंगलवार की रात करीब 12 बजे अस्पताल में उपचार के दौरान दमतोड़ दिया।

Advertisement

नहीं रहा कलेजे का टुकड़ा
विशेष की मौत के बाद से ही पूरे इलाके में शोक की लहर फैल गई है। रामवाटिका कॉलोनी निवासी पंकज श्रीवास्तव के पुत्र की असामयिक मृत्यु से हर कोई आहत है। माता पिता का रो-रो कर बुरा हाल है। बुधवार को विशेष के अंतिम संस्कार में कॉलोनी सहित शहर भर के लोग शामिल हुए। बच्चे की मृत्यु से बेसुध, रोती- बिलखती मां वंदना श्रीवास्तव ने स्कूल प्रबंधन पर आरोप लगाते हुए बताया कि पूरी तरह से बच्चें की मौत के जिम्मेदार वहां का स्कूल प्रबंधन हैं। क्योंकि खेल के दौरान बच्चे के साथ कोई शिक्षक या कोच वहां मौजूद नहीं था। उन्होने स्कूल को बंद कराने की मांग की है। बताया कि इससे करीब 8 माह पूर्व भी उनके बेटे को स्कूल में ही खेल के दौरान उसके हाथ की हड्डी में फ्रैक्चर हो गया था। इसके अलावा स्कूल में आए दिन लापरवाही के कारण बच्चों को चोट लगती रहती है।

स्कूल प्रबंधन ने स्कूल में लापरवाही से किया इंकार
बच्चे की जमीन पर गिरने से मृत्यु हुई है, न की बास्केटबॉल पोल गिरने से। पोल पुरी तरह से सुदृढ़ स्थिति में खड़ा है। स्कूल के छात्र की असामयिक मृत्यु से पूरा स्कूल प्रबंधन व प्रशासन बेहद दुखी है। विशेष का सिर पोल से टकराया और पोल उस पर गिरने से चोट लगी है। मैदान में घटना होने पर तत्काल शिक्षकों द्वारा बच्चे को निजी अस्पताल में इमरजेंसी ट्रीटमेंट के लिए ले जाया गया।

ये भी पढ़ें- बरेली: तिरंगा फहरा कर राष्ट्रीय धर्म निभाना है- डॉ. केएम अरोड़ा

 

Advertisement