विदेशी निवेशकों की छह माह बाद हुई लिवाली से शेयर बाजार गुलजार

0
20



मुंबई : उभरते एशियाई बाजारों में छह माह बाद जुलाई में विदेशी संस्थागत निवेशकों (एफआईआई) की हुई लिवाली की बदौलत आज घरेलू शेयर बाजार का लगातार छठे दिन भी चढ़ना जारी रहा।
भारत, दक्षिण कोरिया, वियतनाम, ताइवान, फिलिपींस, इंडोनेशिया और थाइलैंड के शेयर बाजारों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, विदेशी निवेशकों ने जुलाई में 1.23 अरब डॉलर की लिवाली की है। यह दिसंबर 2021 के बाद किसी एक महीने में की गई लिवाली है। इससे पूर्व पिछले छह माह में विदेशी निवेशक ने इन बाजारों से लगातार बिकवाली की है।
इससे बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 214.17 अंक की तेजी लेकर 58350.53 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 42.70 अंक बढ़कर 17388.15 अंक पर रहा। हालांकि दिग्गज कंपनियों के विपरीत बीएसई की छोटी और मझौली कंपनियों में हुई बिकवाली ने शेयर बाजार की तेजी की रफ्तार को धीमा कर दिया। इस दौरान मिडकैप 0.60 प्रतिशत गिरकर 24,388.12 अंक और स्मॉलकैप 0.28 प्रतिशत फिसलकर 27,471.79 अंक पर रहा।
इस दौरान बीएसई में कुल 3484 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 1371 में लिवाली जबकि 1976 में बिकवाली हुई वहीं 137 के भाव अपरिवर्तित रहे। इसी तरह एनएसई में 25 कंपनियों में तेजी जबकि अन्य 25 में गिरावट का रुख रहा।
बीएसई में वित्त, टेक और आईटी समूह की 1.28 प्रतिशत तकी की तेजी को छोड़कर शेष 16 समूहों में बिकवाली हावी रही। इस दौरान हेल्थकेयर 0.65, इंडस्ट्रियल्स 0.61, दूरसंचार 1.26, आॅटो 0.78, कैपिटल गुड्स 0.82, धातु 0.54 और रियल्टी समूह के शेयर 0.73 प्रतिशत गिर गए।
वैश्विक बाजार में तेजी का रुख रहा। इस दौरान ब्रिटेन का एफटीएसई 0.06, जर्मनी का डैक्स 0.27, जापान का निक्केई 0.53 और हांगकांग का हैंगसेंग 0.40 प्रतिशत चढ़ गया जबकि चीन के शंघाई कंपोजिट में 0.71 प्रतिशत की गिरावट रही।

Looks like you have blocked notifications!