लखनऊ के इस इलाके में पक्का पुल बनाने की उठने लगी मांग, एक लाख आबादी को मिलेगा फायदा

0
16

लखनऊ। राजधानी का वह इलाका जो आज भी बाढ़ ग्रस्त है। इस इलाके में बरसात के समय में लोगों का जीना मुहाल हो जाता है। इस सब के बावजूद करीब 6 सालों के अंदर यहां पर घनी आबादी बस चुकी है, जी हां हम बात कर रहे हैं फैजुल्लागंज वार्ड की । हालांकि फैजुल्लागंज वार्ड एक में पूरा इलाका बाढ़ ग्रस्त नहीं है, लेकिन नदी के किनारे का पूरा क्षेत्र जल निकासी की समस्या से दो-चार होता है और बरसात के समय यहां बाढ़ की स्थिति बनी रहती है।

Advertisement

बताया जा रहा है कि इस क्षेत्र में 2 वार्डों की सीमाएं मिलती हैं, इस वजह से भी यहां क्षेत्र में विकास अपनी रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है। इसके अलावा में स्थानिय लोग दाउदनगर ,दौलतगंज , काशी बिहार, मोनी पुरवा को जोड़ने वाले गोमती नदी पर बने पीपे वाले पुल की जगह पक्का पुल बनाए जाने की मांग लंबे अरसे से करते आ रहे हैं।

क्षेत्र के निवासियों द्वारा एसडीएम से लेकर के मुख्यमंत्री तक ज्ञापन दिया गया, धरना प्रदर्शन किया गया,लेकिन आज तक पुल नहीं बन पाया, एक बार फिर क्षेत्रीय निवासियों को लेकर के प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रदेश महासचिव व भारतीय उद्योग किसान व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व मेयर प्रत्याशी अजय त्रिपाठी समेत दर्जनों लोगों ने पीपे वाले पुल पर ही प्रदर्शन किया और पक्का पुल बनाए जाने की मांग उठाई है।

बताया जा रहा है कि पक्का पुल निर्माण होने के बाद सीधे तौर पर करीब एक लाख की आबादी को इसका फायदा मिलेगा। साथ ही लोगों को चौक ठाकुरगंज राजाजीपुरम मेडिकल यूनिवर्सिटी जाने के लिए घूम कर जाना नहीं पड़ेगा, बल्कि सीधे लोग अपने गंतव्य तक पहुंच सकेंगे।

यह भी पढ़ें:-अयोध्या: कुलपति को सौंपा कर्मचारी परिषद के सदस्यों ने लंबित मांग पत्र