राष्ट्रीय लोक अदालत में 60 हजार वादों का किया गया निस्तारण, 14 करोड़…

0
42

अयोध्या। राष्ट्रीय लोक अदालत में शनिवार को यहां रिकार्ड 60 हजार वादों का निस्तारण किया गया। इतना ही नहीं समझौता धनराशि के रूप में करीब 14 करोड़ रुपये वसूले गए। पहली बार है कि राष्ट्रीय लोक अदालत में एक ही दिन में इतनी बड़ी संख्या में मामलों का निपटारा हुआ है।

Advertisement

जिला जज अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण चन्द्रशीला द्वारा दीप प्रज्वलित कर राष्ट्रीय लोक अदालत का शुभारंभ किया गया। जिला जज की ओर से बताया गया राष्ट्रीय लोक अदालत का मुख्य उद्देश्य अधिक से अधिक मुकदमों का निस्तारण किया जाना है, जिससे की राष्ट्रीय लोक अदालत में निस्तारण का नया कीर्तिमान स्थापित किया जा सके।

यह कीर्तिमान आज स्थापित किया गया है। नोडल अधिकारी शैलेन्द्र सिंह और सचिव सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रिचा वर्मा के अनुसार लोक अदालत में लगभग 60000 वादों को निस्तारित किया गया, जिसमें लगभग चौदह करोड़ रुपए की वसूली धनराशि पर समझौता किया गया। भूदेव गौतम न्यायाधीश मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण द्वारा कुल 101 वाद निस्तारित किये गये।

पीठासीन अधिकारी वर्चुअल कोर्ट अंशुमान यादव द्वारा 17000 वादों का निस्तारण किया गया। जो कि अपने आप में एक बड़ी उपलब्धि है। बैंक रिकवरी से संबंन्धित 972 प्री-लिटिगेशन वाद निस्तारित किये गए। बैंक संबंन्धित ऋण वसूला गया। पारिवारिक न्यायालय द्वारा 112 मुकदमों को निस्तारित किया गया। संबंधित मजिस्ट्रेट न्यायालयों द्वारा लगभग 4100 फौजदारी वादों को निस्तारित किया गया।

सिविल न्यायालय द्वारा कुल 101 मामलों का निस्तारण किया गया। राजस्व मामलों से संबन्धित 38833 वाद विभिन्न राजस्व न्यायालय द्वारा निस्तारित किये गये। इस मौके पर निशुल्क एलोपैथिक चिकित्सा शिविर एवं होम्योपैथिक चिकित्सा शिविर का भी आयोजन किया गया।

यह भी पढ़ें:-हरदोई: राष्ट्रीय लोक अदालत ने पति पत्नी को फिर से मिलाया, छोटी बहन उजाड़ रही थी भाई का घर