रामगंगा नदी में कटान रोकने तैयार हो रहा डायवर्जन चैनल…

0
45

बरेली,अमृत विचार। राम गंगा नदी में कटान को रोकने के लिए सिंचाई बाढ़ खंड द्वारा सदर तहसील के गांव जित्तौर में 69 लाख रुपये की धनराशि से डायवर्जन चैनल तैयार किया जा रहा है। चार चरणों में पूर्ण होने वाले इस कार्य का पहला चरण बारिश से पहले पूर्ण हो जाएगा। निर्माण खंड के अधिकारी इसके कार्य प्रगति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

Advertisement

रामगंगा नदी का जलस्तर बढ़ते ही सदर तहसील के गांव जित्तौर में कटान हो जाता है। कटान के कारण बरेली शहर समेत अन्य स्थानों पर बाढ़ के हालात उत्पन्न हो जाते हैं। इससे निपटने के लिए सिंचाई विभाग बाढ़ खंड द्वारा डायवर्जन चैनल तैयार कराया जा रहा है। बाढ़ खंड अधिकारियों के अनुसार अक्टूबर 2021 में कार्य शुरू हुआ था। यह कार्य चार चरणों में होना है।

पहले चरण का कार्य इस साल बारिश से पहले समाप्त हो जाएगा। डायवर्जन चैनल का कार्य मनरेगा के तहत कराया जा रहा है। डायवर्जन चैनल बनने के बाद बाढ़ के दिनों में कटान की नौबत नहीं आएगी। नदी स्वयं ही डायवर्ट हो जाएगी और बाढ़ नहीं आएगी।
यहां से छोड़ा जाता है रामगंगा नदी में पानी

कालागढ़ डैम से छोड़े गए पानी के अलावा हरेवली बैराज, पीली डैम, खो बैराज, फीका बैराज, ढेला बैराज, लालपुर बीयर, कैमरी बीयर, भाखड़ा नदी, किच्छा नदी, किला नदी आदि नदियों का पानी रामगंगा में मिलता है। इससे रामगंगा का जल स्तर बढ़ जाता है।

डायवर्जन चैनल में एक यूनिट तैयार होनी है। चैनल की हेडरीच में 25 मीटर और नीचे और 10 मीटर लंबाई है। कार्य की प्रगति को लेकर लगातार निरीक्षण किया जा रहा है।—वीरेंद्र सिंह, सहायक अभियंता, सिंचाई विभाग बाढ़ खंड

ये भी पढ़ें-

बरेली: मारपीट में बचाव करने पहुंचे पुलिसकर्मी की वर्दी फाड़ी