युवक की मौत, परिजनों ने मोर्चरी में जिंदा समझ किया हंगामा

0
20

Advertisement

बदायूं, अमृत विचार। थाना अलापुर क्षेत्र में टेंपो से गिरकर घायल युवक की सांस चलने के बाद भी मृत घोषित करके मोर्चरी में रखवा दिया गया। यह आरोप लगाते हुए परिजनों ने जिला अस्पताल में हंगामा किया। वह चिकित्सक की तलाश में ईंटें लेकर दौड़े। चिकित्सक नहीं मिले तो हंगामा करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंच गए। सिटी मजिस्ट्रेट विजेंद्र सिंह और सीओ सिटी आलोक मिश्रा पुलिस बल के साथ अस्पताल पहुंच कर चिकित्सकों से दोबारा से युवक को जांच कराया जिसपर चिकित्सकों ने जांच के बाद  मृत घोषित कर दिया।

Advertisement

गांव सूरजपुर निवासी जागेश (24) पुत्र नेकसू टेंपो चलाते थे। जिसकी आय से अपने परिवार का पालन पोषण करते थे। गुरुवार को जागेश अपना टेंपो लेकर गांव संजरपुर गया था। जहां से कांवडियों का जत्था जा रहा था। कांवड़ियों को सड़क पर एक तरफ चलने को कहने पर कांवड़ियों ने विवाद करना शुरू कर दिया। जागेश को टेंपो से बाहर निकालने लगे। कांवड़ियो की धक्का-मुक्की में टेंपो पलट गया। जागेश गंभीर रूप से घायल हो गए। टेंपो में साथ उसका साथी घायल अवस्था में जिला अस्पताल ले गया।

Advertisement

जहां चिकित्सक ने जागेश को मृत घोषित कर शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया गया। सूचना मिलने के करीब दो घंटों  बाद परिजन मोर्चरी पहुंचे। उन्होंन शव देखा तो जागेश के जिंदा होने का अंदाजा हुआ। जिसपर वह आक्रोशित होकर हंगामा शुरू कर दिए। परिजनों के हंगामा करने के दौरान चिकित्सक और स्टाफ वहां से निकल गए।

चिकित्सक नहीं मिलने पर सभी कलेक्ट्रेट पहुंच कर हंगामा करने लगे। डीएम ने अधिकारियों को मौके पर भेजा औ्रर अधिकारियों के सामने चिकित्सकों की टीम ने युवक की जांच कर  जागेश को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने परिजनों को समझाकर मृतक का पोस्टमार्टम कराया।

यह भी पढ़ें – बदायूं: गोवंशीय से टकराकर बाइक सवार की मौत, परिवार में मचा कोहराम

Advertisement