यहां श्रद्धालुओं को पग-पग चुभतें हैं अव्यवस्था के कांटें, कुमारगंज में…

Advertisement

कुमारगंज/अयोध्या। मिल्कीपुर तहसील के अंतर्गत नगर पंचायत कुमारगंज में संपर्क मार्गों का बुरा हाल है। कई मार्गों पर दो कदम चलना भी दूभर है। यह हाल तब है जब सावन के दौरान कई मार्गों से श्रद्धालुओं का आवागमन होता है। बवां गांव स्थित पौराणिक स्वंभू श्री महर्षि बामदेव मंदिर आश्रम में पवित्र पावन सावन महीने में श्रद्धालुओं को आने जाने के लिए समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। जलभराव के कारण कीचड़ से भरे सड़क मार्ग में भक्तों को जलाभिषेक और दर्शन पूजन में दिक्कत आ रही है।

Advertisement

लोगों ने गत वर्ष सांसद व विधायक और स्थानीय जनप्रतिनिधि से कई बार मार्ग की बदहाल हालत को लेकर शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।कुमारगंज निवासी विनय कुमार गुप्ता व युवा सामाजिक कार्यकर्ता सूरज कौशल ने इस मुद्दे को कई बार पीडब्ल्यूडी अधिकारियों एवं लोकनिर्माण विभाग मंत्री को प्रस्तुत किया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। हालात यह है कि पैदल चलने वालों को कीचड़ में से गुजरना पड़ता है।

Advertisement

यह संपर्क मार्ग कुमारगंज से महर्षि बामदेव मंदिर बवां होते हुए गडौली, बघौड़ा व रौतांवा को जाता है। इसी से प्राथमिक विद्यालय कुमारगंज में पढ़ने वाले बच्चे आते जाते हैं और कीचड़ में गिरकर चोटिल होते है। श्रद्धालुओं का कहना है की पौराणिक मंदिर महर्षि बामदेव आश्रम तक आने का कोई भी मार्ग दुरुस्त नहीं है। हर तरफ कीचड़ गड्ढों की दयनीय स्थिति बनी है। बारिश के मौसम में दिक्कतें और बढ़ जाती है। जिससे बूढ़ों एवं बच्चों को अधिक परेशानियों की सामना करना पड़ता है।

यह भी पढ़ें:-अयोध्या का संपर्क मार्ग बदहाल, ‘पैच वर्क’ के बाद भी सड़क पर बिखरी पड़ी हैं गिट्टियां, रोज हो रहे हादसे

Advertisement