“मैं चाहता था वो 450 का टारगेट दें”, पांचवें टेस्ट मैच में जीत के बाद स्टोक्स ने दिया बड़ा बयान

Ben Stokes: इंडिया और इंग्लैंड के बीच खेले गये पाचवें टेस्ट मैच में टीम इंडिया को 7 विकेट से बड़ी हार का सामना करना पड़ा. इस टेस्ट मैच में इंडियन टीम के शुरुआती तीन दिन में अच्छा क्रिकेट खेला लेकिन आखरी दिन इंग्लैंड को 378 रन का टारगेट मिला और लचर गेंदबाजी के चलते उन्होंने आसानी से उसको प्राप्त कर लिया. ऐसे में टीम में नए कप्तान बेन स्टोक्स ने अपनी कप्तानी पर एक बड़ा बयान दिया है. न्यूज़ीलैण्ड के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने के बाद उन्होंने इंडिया के खिलाफ इस टेस्ट मैच की जीत पर कहा की हम 450 रन के लिए भी तैयार था.

Ben Stokes ने कहा, मैं चाहता था 450 रन बनाये

Ben Stokes

मैच में जीत दर्ज करने के बाद बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने बातचीत में बताया की वो इंडियन टीम से 450 रन की उम्मीद कर रहे थे ताकि वो अपनी टीम को टेस्ट कर सके. इंग्लैंड टेस्ट टीम (Ben Stokes) के कप्तान ने कहा, “पता नहीं यह लाइन (टेस्टिंग) कहां खत्म होती है. मैं तो यही चाहता था कि भारतीय टीम 450 रनों तक पहुंचे, ताकि हम यह देख सकें कि हम क्या कर सकते हैं. मैंने कल (मैच के चौथे दिन) दिन का खत्म होने के बाद कहा था कि यह समझो की भारतीय टीम हमें किस तरह से देख रही होगी. मैच अब चौथी पारी में है और उनका पूरा ध्यान हमारे खेलने के तरीकों पर ही होगा. साथ ही वह घबरा भी रहे होंगे.”

कोच ब्रेंडन मैकुलम के बारे में कही ये बड़ी बात

&Quot;मैं चाहता था वो 450 का टारगेट दें&Quot;, पांचवें टेस्ट मैच में जीत के बाद स्टोक्स ने दिया बड़ा बयान

स्टोक्स (Ben Stokes) ने बातचीत के दौरान बताया की ड्रेसिंग रूम से उन्हें साफ़ कहा गया था की मैदान पर जाकर तेज़ बल्लेबाज़ी करने को ही कहा गया था. उन्होंने कहा, “बतौर एक टीम इस स्थिति में होने पर टीमें अपनी पारी खत्म करने से डरेंगी. खासकर जब उनके पास बढ़त भी हो. हमें ड्रेसिंग रूम से सीधा निर्देश मिला था कि मैदान में जाएं और तोड़फोड़ कर दें. कोच ने भी नतीजों पर नहीं, बल्कि एंजॉय करने पर ध्यान देने के लिए कहा. जब आपके पास मैदान में जाकर क्या करना है, यह पता हो तो ऐसे में खेल काफी सरल भी हो जाता है.”

पाचवें टेस्ट में मिली 7 विकेट से शानदार जीत

&Quot;मैं चाहता था वो 450 का टारगेट दें&Quot;, पांचवें टेस्ट मैच में जीत के बाद स्टोक्स ने दिया बड़ा बयान

आखरी और निर्णायक टेस्ट मैच मेंइंग्लैंड की टीम की शुरुआत कोई शानदार नहीं रही. इंडियन टीम पहली पारी में ऋषभ पन्त और रविन्द्र जडेजा की शतकीय पारी की बदौलत 416 रन बनाने में कामयाब रही. जेम्स एंडरसन ने 5 विकेट अपने किये थे. इसके बाद इंग्लैंड पहली पारी में इंडिया की तेज़ गेंदबाजी के आगे असहज नज़र आई और बेयरस्टो के शतक के बावजूद सिर्फ 284 रन पर ढेर हो गयी.

दूसरी पारी में इंडिया की बल्लेबाज़ी ख़राब रही और पूरी टीम सिर्फ पुजारा और पंत के अलावा बल्लेबाज़ी में फ्लॉप साबित हुए और सिर्फ 245 रन ही बना सके. चौथी पारी में इंग्लैंड को 370 से भी ज्यादा का टारगेट मिला था और उन्होंने बहुत ही बेहतरीन बल्लेबाजी के साथ जो रूट और बेयरस्टो के शतकों के दम पर मथक में जीत हासिल की.

और पढ़िए:

इंग्लैंड के खिलाफ टीम इंडिया की ये गलतियाँ पड़ी भारी, सीरीज जीतने का सपना हुआ चूर

बर्मिंघम टेस्ट में शतक लगा जो रूट निकले विराट कोहली से आगे, फैब फोर में भी बने नंबर 1

“ये फैसला पागलपन भरा रहा …” चौथे दिन बुमराह की कप्तानी पर पूर्व दिग्गज का आया ये बड़ा बयान