महिंदा और बासिल पर 11 अगस्त तक बढ़ाया यात्रा प्रतिबंध, श्रीलंकाई सुप्रीम कोर्ट के आदेश

0
21

Advertisement

कोलंबो। श्रीलंका की सुप्रीम कोर्ट ने देश के पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और पूर्व वित्त मंत्री बासिल राजपक्षे पर लगाये गये यात्रा प्रतिबंध को 11 अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया है। श्रीलंकाई सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व में अपने अंतरिम आदेश में महिंदा राजपक्षे और बासिल राजपक्षे के 28 जुलाई तक अदालत की अनुमति के बिना देश छोड़ने पर रोक लगा दी।

Advertisement

इस बीच श्रीलंका के अपराध जांच विभाग (सीआईडी) ने गत नौ जुलाई को राजधानी कोलंबो में राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे के निजी आवास को आग लगाने के आरोप में मंगलवार को तीन संदिग्धों को गिरफ्तार किया। यह मामला एक समूह द्वारा दायर किया गया है जिसमें सीलोन चैंबर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष चंद्र जयरत्ने, पूर्व श्रीलंकाई तैराकी चैंपियन जूलियन बोलिंग और जेहान कनगरत्ना और ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल शामिल हैं।

Advertisement

याचिकाकर्ताओं का दावा है कि बेसिल, महिंदा और सेंट्रल बैंक के पूर्व गवर्नर अजीत निवार्ड कैबराल श्रीलंका के विदेशी कर्ज में बढ़ोतरी, कर्ज की अदायगी और मौजूदा आर्थिक संकट के लिए जिम्मेदार हैं, जिसके कारण भोजन और दवाओं की आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है। कोर्ट ने पहले इन दोनों के 15 जुलाई, फिर 28 जुलाई और फिर 2 अगस्त तक देश छोड़ने पर रोक लगा दी थी, जिसे एक बार फिर बढ़ा दिया गया है।

ये भी पढ़ें:- विदेशी मुद्रा संकट से जूझ रहा पाकिस्तान, चीन ने एक साल में दिया दो अरब डॉलर से ज्यादा का ऋण

Advertisement