भारत के अलावा इन देशों में पहले से है Agneepath Yojana जैसा नियम, जहां सेना में भर्ती होना अनिवार्य है

0
12

Which Countries It Is Mandatory To Join The Army: भारत की तीनों सेनाओं में 4 साल की सेवा देने वाली अग्निपथ योजना को लेकर देश में भसड़ मची हुई है. विपक्ष और उपद्रवी मिलकर इस योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने का काम कर रहे हैं. भारत से पहले ही कई देशों में अग्निपथ योजना से मिलते जुलते नियम हैं. कुछ राष्ट्र में तो मैट्रिक पास होने के बाद सेना ज्वाइन करना हर काबिल नागरिक के लिए अनिवार्य ही है. 

आज हम आपको ऐसे देशों के बारे में बता रहे हैं जहां के लोग स्कूल की पढाई करने के बाद अपना करियर बनाने से पहले सेना में भर्ती होकर अपनी मातृभूमि की रक्षा करने का जिम्मा उठाते हैं ना की सेना के नियम के खिलाफ ट्रेन जलाते हैं. 

किन देशों में सेना में भर्ती होना अनिवार्य है 

इजराइल में सेना में भर्ती होना अनिवार्य है 

Israel army scheme: भारत का मित्र देश इजराइल विश्वशक्तियों में से एक गिना जाता है. इस छोटे से देश की सेना से पूरी दुनिया खौफ खाती है. इजराइल में पुरुषों और महिलाओं के लिए सेना में भर्ती होना अनिवार्य है.  अगर आप हष्ट-पुष्ट हैं और किसी भी प्रकार की शारीरिक कमजोरी नहीं है तो आपको इजराइल का नागरिक होने के नाते अपने जीवन के दो से ढाई साल देश को समर्पित करने होते हैं. इजराइल का हर एक नागरिक फौजी है. यहां पुरुषों को ढाई साल और महिलाओं को कम से कम 2 साल तक सेना में रहकर अपने देश की रक्षा करनी पड़ती है. 

बरमूडा में भी सेना ज्वाइन करना अनिवार्य 

बरमूडा अपने आप में पूर्ण राष्ट्र नहीं है, यह यूनाइटेड किंगडम का एक विदेशी क्षेत्र है लेकिन इसके पास अपनी छोटी सेना है. बरमूडा में भी सेना ज्वाइन करना अनिवार्य है. यहां 18 से 32 साल के पुरुषों को कम से कम 38 महीने के लिए बरमूडा रेजिमेंट में सेना देनी ही पड़ती है. वहां सेना में भर्ती होने के लिए इतनी तादात में लोग पहुंचते हैं कि लॉटरी सिस्टम्म से सैनिकों का चयन होता है 

ब्राजील में एक साल सेना के नाम 

ब्राजील में रहने वाले लोग जब अपना 18 वां जन्मदिन मानते हैं तो उसके बाद उन्हें 12 महीने के लिए सेना में काम करना पड़ता है. 

साइप्रस में हर मर्द सैनिक है 

छोटे से देश साइप्रस में रहने वाला हर एक मर्द फौजी है. क्योंकि यहां 17 से लेकर 50 साल के पुरुष को सेना में भर्ती होना अनिवार्य किया गया है. यहां तक की धार्मिक कार्यों से जुड़े मर्द भी कम से कम 24 महीने के लिए सेना में भर्ती होते हैं. 

ग्रीस में भी सेना की सेवा अनिवार्य 

ग्रीस देश में 19 से 45 वर्ष के बीच के मर्दों को सेना ज्वाइन करना कम्पल्सरी है.यह कानून प्रत्येक पुरुष पर लागू होता है. आप ग्रीक में पैदा नहीं हुए हों लेकिन ग्रीक कानून के हिसाब से आप वहां के नागरिक हैं तो भी आपको सेना में शामिल होना पड़ेगा। 

ईरान में भी अनिवार्य 

ईरान देश में भी 18 साल से अधिक उम्र के पुरुषों को सेना में सेवा देना अनिवार्य किया गया है. यहां कम से कम 24 महीने अपने देश की रक्षा करने का मौका मिलता है. 

उत्तर कोरिया में नियम बहुत कड़े हैं 

उत्तर कोरिया में युद्ध के बाद से यहां रहने वाले प्रत्येक काबिल पुरुष को 14 साल की उम्र से आर्मी का प्रशिक्षण दिया जाता है 17 वर्ष में भर्ती होती है और 30 साल की उम्र तक सेना में काम करते रहता होता है. यहां महिलाओं को भी चयनात्मक भर्ती से गुजरना पड़ता है 

दक्षिण कोरिया में 2 साल सेना अनिवार्य 

दक्षिण कोरिया में भी 18 से 28 साल के बीच सभी सक्षम पुरुषों को सेना ज्वाइन करनी पड़ती है. यहां के निवासी कम से कम दो साल तक देश की सेवा करते हैं. 

भारत में 4 साल की राष्ट्र सेवा का अवसर देने वाली अग्निपथ योजना को लेकर बवाल मचा है, यहां विपक्ष कह रहा है कि सेना और सरकार मिलकर अब सैन्य भर्ती में दलाली कर रही हैं, युवाओं को हथियार चलाने का प्रशिक्षण देकर उन्हें आतंकवादी बनाना चाहती है. खैर अग्निपथ योजना विपक्ष के दावों की तरह नहीं है. 

अग्निपथ योजना क्या है, कितनी सैलरी मिलेगी, 4 साल बाद क्या होगा, कहां नौकरी मिलेगी इस योजना से जुड़े सभी सवालों के जवाब जानने के लिए यहां क्लिक करके दूसरे आर्टिकल में पहुंच जाएं