Sunday, June 26, 2022
HomeEntertainmentबॉलीवुड में हिट होने के बाद साउथ में भी अपनी किस्मत आजमा...

बॉलीवुड में हिट होने के बाद साउथ में भी अपनी किस्मत आजमा चुकी हैं ये अभिनेत्रियां, रहीं असफल

साल की शुरुआत से ही बॉक्स ऑफिस पर साउथ की फिल्में धमाल मचा रही हैं। साउथ इंडस्ट्री की फिल्मों और सितारों के आगे बॉलीवुड के बड़े स्टार्स का जादू भी फीका पड़ रहा है। ऐसे में कई बॉलीवुड सितारे हैं, जो साउथ में भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। हाल ही में रिलीज हुई ‘आरआरआर’ में आलिया भट्ट और अजय देवगन नजर आए थे, तो ‘केजीएफ चैप्टर 2’ में रवीना टंडन और संजय दत्त भी दिखाई दिए थे हालांकि ऐसा पहले भी होता रहा है। हिंदी सिनेमा की कई ऐसी अभिनेत्रियां हैं, जिन्होंने बॉलीवुड में सफल होने के बाद साउथ में अपनी किस्मत आजमायी लेकिन वह असफल साबित हुईं। आइए देखते हैं इन अभिनेत्रियों की लिस्ट…

बिपाशा बसु

बॉलीवुड अभिनेत्री बिपाशा बसु ने अपने करियर की शुरुआत 2001 में फिल्म ‘अजनबी’ में नेगेटिव रोल निभाकर की थी। इस फिल्म के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट डेब्यू अवॉर्ड मिला था। इसके बाद वह 2002 में ‘राज’ में लीड रोल में नजर आईं, जिसके लिए उन्हें बेस्ट एक्ट्रेस के लिए नॉमिनेशन मिला था। बॉलीवुड में सफल होने के बाद बिपाशा ने साउथ में भी अपनी किस्मत आजमानी चाही। 2002 में वह साउथ की फिल्म ‘टक्करि दॊंग’ में महेश बाबू और लीसा रे के साथ नजर आईं, लेकिन यह फिल्म असफल साबित हुई।

अमृता राव

अभिनेत्री अमृता राव ने 2002 में ‘अब के बरस’ से अपने करियर की शुरुआत की थी, जिसमें उनके अभिनय की तारीफ हुई थी। इसके बाद वह 2003 में ‘इश्क विश्क’, 2004 में ‘मैं हूं न’ जैसी कई फिल्मों में नजर आईं, जो काफी बढ़िया चलीं। 2007 में अमृता ने तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री में ‘अथिदी’ से डेब्यू किया। इस फिल्म में वह महेश बाबू के साथ नजर आई थीं, लेकिन यह असफल साबित हुई। इसके बाद अमृता किसी ओर साउथ फिल्म में नजर नहीं आईं।

आयशा टाकिया

आयशा टाकिया ने 2004 में ‘टारजन द वंडर कार’ से अपना बॉलीवुड डेब्यू किया था। इसके लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस का अवॉर्ड भी मिला था। इसके बाद वह 2005 में नागार्जुन अक्किनेनी, सोनू सूद और अनुष्का शेट्टी के साथ ‘रॉबरी’ में नजर आई थीं। इस फिल्म को दर्शकों का मिलाजुला रिस्पांस मिला था, जिसके बाद आयशा ने साउथ इंडस्ट्री से दूरी बना ली थी।

मनीषा कोइराला

मनीषा कोइराला ने 1989 में अपना एक्टिंग डेब्यू एक नेपाली फिल्म से किया था। इसके बाद वह 1991 में फिल्म ‘सौदागर’, 1994 में ‘1942:ए लव स्टोरी’ जैसी कई फिल्में में नजर आईं। 1995 में वह नागार्जुन और राम्या कृष्णा के साथ फिल्म ‘क्रिमनल’ में नजर आईं। इसके बाद भी उन्होंने दो-तीन साउथ की फिल्म की, लेकिन वह बॉलीवुड की तरह वहां अपना नाम नहीं बना पाईं।

ट्विंकल खन्ना

1995 में ट्विंकल खन्ना ने अपने करियर की शुरुआत फिल्म ‘बरसात’ से की थी। इस फिल्म के लिए ट्विंकल को फिल्मफेयर बेस्ट डेब्यू एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला था। इसके बाद वह कई बॉलीवुड फिल्मों में नजर आईं, लेकिन उनकी ज्यादातर फिल्में असफल रहीं। इसके बाद उन्होंने 1999 में दग्गुबाती वेंकटेश के साथ ‘सीनू’ में काम किया। यह फिल्म सफल रही, लेकिन ट्विंकल इसके बाद किसी साउथ फिल्म में नजर नहीं आईं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -