बॉलीवुड के दर्शकों का बदल रहा है ट्रेंड, इसलिए शमशेरा जैसी फिल्मों का फ्लॉप होना नहीं है हैरानी की बात

0
16

रणबीर कपूर की फिल्म शमशेरा हाल ही में सिनेमाघरों में रिलीज़ हुई है। इस फिल्म को दर्शकों का पिरा नहीं मिल पाया है और कमाई के मामले में ये फिल्म फ्लॉप हो गई है। हालांकि इस फिल्म से काफी उम्मीद थी लेकिन अब इस फिल्म से उम्मीद लगाने का कोई फायदा नहीं है। ये कहना गलत नहीं होगा कि अब बॉलीवुड के दर्शकों का ट्रेंड भी बदल रहा है।

दर्शक अब अच्छा कंटेन्ट देखने के लिए सिनेमाघरों में जाते हैं नाकी बड़े स्टार्स को देखने के लिए। वहीं शमशेरा का फ्लॉप होना भी इस बात की ओर संकेत कर रहा है कि अब बॉलीवुड में बदलाव आ रहा है। बॉलीवुड में फिलहाल बिना सर पैर की फिल्मों को ही बनाया जा रहा है। जिसे अब बदलने की जरूरत है।

बॉलीवुड में कई पीरियड ड्रामा फिल्म बनाई जा रही हैं। ऐसी फिल्मों को सबसे ज्यादा रिसर्च की जरूरत होती है। वहीं रिसर्च के लिए समय भी चाहिए होता है। बॉलीवुड में ऐसे गिने चुने निर्देशक हैं जो इस तरह की फिल्में बना सकते हैं। बॉलीवुड में ज़्यादातर निर्देशक के पास तो रिसर्च का समय ही नहीं है और जो करते हैं उनके रिसर्च का भी न सिर होता और न पैर इसलिए फिल्में फ्लॉप हो रही हैं।

वहीं किरदार और हीरो का भी अब फिल्मों में मैच देखने को नहीं मिल रहा है। उदाहरण के लिए सम्राट पृथ्वीराज को ही देखा जा सकता है जिसमें अक्षय कुमार किसी भी एंगल से सम्राट पृथ्वीराज के किरदार के लिए सही नहीं थे। न ही वे इस किरदार को निभा पाए और इसलिए ये फिल्म भी फ्लॉप हो गई। बॉलीवुड सिर्फ बड़े चेहरों को कास्ट करने की सोचता है न कि किरदार के अनुसार हीरो लेता है।

हाल फिलहाल में बॉलीवुड में जिन भी फिल्मों का निर्माण किया जा रहा है उनके विषयों में भी काफी भटकाव देखने को मिल रहा है जिससे दर्शक भी इन फिल्मों से जुड़ नहीं पा रहे हैं और इसका खामियाजा भी फिल्मों को बॉक्स ऑफिस पर भुगतना पड़ रहा है।