बीमारी का फायदा उठाते हुए कथित भाजपा नेता ने दंपती

Advertisement

लखनऊ । राजधानी में एक कथित भाजपा नेता ने बीमारी का फायदा उठाते हुए एक दंपती का मकान हड़प कर उन्हें बेघर कर दिया। जब दंपती ने भाजपा नेता से अपना मकान वापस मांगा तो वह मारपीट करने लगा और दंपती को धमकी देने लगा। इस सम्बन्ध में मंगलवार को पीड़ित ने संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून एवं व्यवस्था पीयूष मोर्डिया से मुलाकात कर मदद की गुहार लगाई है। मामले को संज्ञान में लेते हुए संयुक्त पुलिस आयुक्त ने आशियाना कोतवाली प्रभारी को फौरन जांच के आदेश दिए है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

Advertisement

मूलरूप से हुसैनगंज थानाक्षेत्र गांधीनगर, लालकुआं निवासी मोहित शुक्ला ने साल 2014 में आशियाना के रूचिखंड क्षेत्र में एलडीए का एक मकान खरीदा था। बता दें कि इस घरौंदे को खरीदने के लिए पीड़ित ने मोहनरोड स्थित एक सरकारी बैंक से 13 लाख 95 हजार रूपये का ऋण लिया था। मौजूदा समय में इस ऋण की अदायगी आज भी पीड़ित के नाम से चल रही है। पीड़ित ने बताया कि साल 2021 में उसकी तबीयत अचानक खराब हो गई। इस दौरान परिजनों ने पीड़ित को निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। पीड़ित का आरोप है कि उनका ममेरा साला शोभित द्विवेदी स्वयं को भाजपा कार्यकर्ता बताया है।

Advertisement

उनकी नियत पीड़ित का मकान हड़पने पर थी। वह अक्सर पीड़ित का मकान खरीदने की बातें करता था लेकिन पीड़ित व उसका परिवार मकान बेचने को राजी नहीं था। हालांकि, अस्पताल मे भर्ती रहने की वजह से पीड़ित ने मकान की देखभाल की जिम्मेदारी कथित भाजपा नेता को सौंप दी थी। आरोप है कि 08 जनवरी 2021 को कथित भाजपा नेता अपनी मां और भाई को लेकर अस्पताल पहुंचा और बेहतर इलाज करवाने का झांसा देते हुए अपने साथ रजिस्ट्रार आफिस ले गया। इस बीच भाजपा नेता ने सादे पेपर पर पीड़ित व उसकी पत्नी के हस्ताक्षर बनवा लिए और धोखाधड़ी कर फर्जी दस्तावेज तैयार मकान को अपने नाम करवा लिया।

अस्पताल से छुट्टी होने के बाद पीड़ित अपने घर पर पहुंचा तो कथित भाजपा नेता से उसे अंदर जाने से मना कर दिया। पीड़ित के विरोध करने पर भाजपा नेता ने जान से मारने की नियत से हमला कर दिया। इस घटना के बाद दंपती सहम गया। बता दें कि एक साल बाद बैंक ने नोटिस भेजकर पीड़ित को मकान की किस्त जमा करने की हिदायत दी। पीड़ित ने बताया कि उसके ममेरे साले ने मकान की एक भी किस्त नहीं चुकाई है और उसके मकान पर अपना स्वामित्व जमा लिया है। इस मामले में पीड़ित ने कथित भाजपा नेता उसकी मां और भाई के खिलाफ संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून एवं व्यवस्था पीयूष मोर्डिया से मदद की गुहार लगाई है।

यह भी पढ़ें:-  कासगंज: भाजपा नेता ने दूसरे समुदाय के लड़के को ‘लव जिहाद’ में फंसाने के लिया रचा था यह षडयंत्र, पढ़ें पूरा मामला

Advertisement