बांग्लादेश में पद्मा पुल को यातायात के लिए खोला गया



ढाका: भारत-बंगलादेश के को जोड़ने वाली बहुप्रतीक्षित पद्मा पुल को रविवार सुबह छह बजे से यातायात के लिए खोल दिया गया।
इस पुल को पहले दिन ही पार करने के लिए सैकडों गाड़यिों की लंबी कतार देखी गयी।
पुल पर शारीरिक रूप से टोल की वसूली करने के लिए कुल 14 बूथ को लगाया गया है।
इस पुल को पार करने के लिए मोटरसाइकिल को सौ टका(बंगलादेशी मुद्रा), जबकि बस को 2,400 टका और मध्यम आकार के ट्रक को 2,800 टका का भुगतान करना होगा।
पांच टन तक के मिनी ट्रकों के लिए 1,600 टका, पांच टन से लेकर आठ टन तक के वाहनों के लिए 2,100 टका, तीन धुरा ट्रकों के लिए 5,500 टका और चार धुरा ट्रेलर के लिए 6,000 टका निर्धारित की गयी है, जबकि चार धुरे से अधिक प्रत्येक धुरे के लिए 1,500 टका चुकाना होगा।
प्रधानमंत्री शोख हसीना ने शनिवार दोपहर को हुए एक रंगारंग कार्यक्रम में मुंशीगंज के मावा के अंतिम छोर पर बने 6.15 किलोमीटर लंबे पद्मा पुल की पट्टिका का अनावरण किया।
इसी के साथ प्रधानमंत्री हसीना इस टोल भुगतान करने के बाद इस पुल को पार करने वाली पहली व्यक्ति बन गयी हैं।

Looks like you have blocked notifications!