बंगाल शिक्षक भर्ती घोटाला: कोर्ट ने पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी को तीन अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजा

Advertisement

कोलकाता। कोलकाता की विशेष अदालत ने पश्चिम बंगाल के मंत्री पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी को तीन अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है। वहीं इनका हर 48 घंटे में मेडिकल चेकअप का आदेश दिया है। कैबिनेट मंत्री पार्थ चटर्जी की करीबी सहयोगी अर्पिता मुखर्जी को सोमवार कोलकाता की विशेष अदालत में पेश किया गया था। जहां ईडी ने कोर्ट में कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि गिरफ्तार किए गए बंगाल के मंत्री की सहयोगी अर्पिता मुखर्जी वित्तीय पैंतरेबाजी के लिए कम से कम 12 शैल कंपनियां चला रही थीं।

Advertisement

ईडी ने कोर्ट में कहा कि पार्थ चटर्जी को भुवनेश्वर जाने के लिए मनाना बहुत मुश्किल था। उन्होंने इसका विरोध करते हुए कहा कि मैं नहीं जाऊंगा। ईडी ने कहा कि हम बड़ी मुश्किल से उन्हें किसी तरह भुवनेश्वर ले गए। ईडी ने अदालत में पार्थ चटर्जी की एम्स भुवनेश्वर की मेडिकल रिपोर्ट पेश किया। जिससे साफ पता चलता है कि वह फिट हैं। ईडी ने कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में कुछ भी गलत नहीं है। वहीं वह सरकारी अस्पताल में रहने के लिए अपने पद का फायदा उठा रहा था। उन्हें हिरासत में लिया जा सकता है।

Advertisement

ये भी पढ़ें – पश्चिम बंगाल: चुनाव बाद हुई हिंसा मामले में सात गिरफ्तार

Advertisement