फोर्ड इंडिया में नहीं बनाएगी इलेक्ट्रिक कार PLI स्किम में आवेदन के बाद कंपनी ने बदला फैसला जानिए

0
379

फोर्ड इंडिया ने इंडिया में इलेक्ट्रिक वाहन बनाने की अपनी स्किम को ठंडे बस्ते में डाल दिया कार निर्माता ने इंडिया सरकार की उत्पाद लिंक्ड प्रोत्साहन स्किम के लिए अपने चल रहे व्यापर पुनर्गठन के हिस्से के रूप में आवेदन किया था PLI स्किन के अनुसार फोर्ड ने निर्यात और घरेलू मार्किट के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए अपनी दो विनिर्माण सुविधाओं में से एक का उपयोग करने की बात कहीं थी 
जानकारी के अनुसार फोर्ड ने एक बयान में कहा सावधानीपूर्वक समीक्षा के बाद हमने किसी भी इंडियन सयंत्र से निर्यात के लिए EV निर्माण को आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है हम उत्पाद से जुड़े प्रोत्साहन के अनुसार प्रस्ताव को मंजूरी देने के लिए सरकार के आभारी है 

FORD
फोर्ड इंडिया ने इंडिया में वाहनों का उत्पादन बंद कर दिया है कंपनी ने पिछले साल सितंबर में इंडिया में अपने दोनों प्लांट में वाहनों का उत्पादन बंद करने घोषणा की थी वहीँ कंपनी चालू वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में इंडिया से निर्यात होने वाले इंजन का उत्पादन भी बंद करने वाली है 
पिछले साल फोर्ड मोटर्स के इंडिया में उत्पादन बंद करने के फैसले के बाद टाटा मोटर्स ने कंपनी के साणंद प्लांट को खरीदने में दिलचस्पी दिखाई थी साणंद प्लांटमें फोर्ड मोटर्स ने 4500 करोड़ रूपये का निवेश किया था फोर्ड मोटर्स के इस प्लांट की क्षमता हर साल 2.5 लाख से 2.7 लाख इंजन का निर्माण करने की थी 

FORD INDIA
फोर्ड मस्टैंग मैच ई रेंज और पॉवर फिगर में भी शानदार है इसमें 68KWH क्षमता की बैटरी दी गई है जिसे 88 kwh तक बढ़ाया जा सकता है यह कार छोटी बैटरी के साथ रियर व्हील ड्राइव और बड़ी बैटरी के साथ ऑल व्हील ड्राइव ऑप्शन में आती है छोटी बैटरी के साथ कार 370 KM की रेंज देती है 
कंपनी का दवा है की मस्टैंग मैच-ई का पर्फोर्मस एक स्पोर्ट्स कार से कम नहीं है असल में यह एक इलेक्ट्रिक पॉवरट्रेन में स्पोर्ट्स कार का ही पर्फोर्मस प्रदान करेगी बैटरी में स्टैंडर्ड पैक के साथ यह 270 BHP की पॉवर और 430 NM का पीक टॉर्क जनरेट करती है यह कार 3.8 सेकंड में 0 से 96 किमी/घंटा की रफ्तार पकड़ सकती है