Sunday, June 26, 2022
HomeNationalफर्जी रिलीज ऑर्डर जारी कर दलाल ने चौकी से छुड़वाया गाड़ी, दोबारा...

फर्जी रिलीज ऑर्डर जारी कर दलाल ने चौकी से छुड़वाया गाड़ी, दोबारा पकड़े..

बहराइच। डेढ़ माह पूर्व के डीसीएम का एआरटीओ चालान कर सालारगंज चौकी पुलिस को सौंप दिया। इसकी जानकारी होते ही विभाग के एक दलाल ने फर्जी रिलीज ऑर्डर बनवाकर अपने खाते में 54 हजार रुपए आरटीजीएस करवाया। इसके बाद आठ हजार नकदी ले ली। दो दिन पूर्व पुनः जांच में डीसीएम पकड़े जाने पर खुलासा हुआ। पीड़ित ने पुलिस को मामले से अवगत कराया। अब विभाग के अधिकारी पीड़ित को धमका रहे हैं।

Advertisement

बहराइच के बाईपास रोड स्थित सहायक संभागीय परिवहन विभाग में जमकर दलालों का रैकेट चल रहा है। लेकिन विभागीय अधिकारियों की मिलीभगत से जिले के लोग लूट के शिकार हो रहे हैं। कुछ इसकी बानगी बुधवार को भी देखने को मिली। एक माह पूर्व डग्गामार वाहनों के विरुद्ध चलाए गए अभियान में सहायक संभागीय विभाग की ओर से डीसीएम संख्या यूपी 43 टी 9008 का चालान किया गया था। इसके बाद वाहन को गल्ला मंडी चौकी पुलिस के हवाले कर दिया।

वाहन मालिक राजेंद्र पांडेय वाहन छुड़वाने के लिए कार्यालय पहुंचा। राजेंद्र ने बताया कि यहां पर दलाल जीशान मिला। उसने वाहन छुड़ाने में मदद की बात कही। इसके बाद कागजात लिया। दलाल ने फर्जी रिलीज ऑर्डर बना दिया। इसके लिए उसने खाते में चार बार में 54 हजार रुपए आरटीजीएस कराया। साथ ही अपनी मेहनत का आठ हजार किया। इसके बाद दलाल ने चौकी से फर्जी रिलीज ऑर्डर पर वाहन छुड़वा दिया। राजेंद्र पुनः गाड़ी का संचालन करने लगा।

दो दिन पूर्व पुनः आरटीओ द्वारा वाहन पकड़ कर चालान किया जाने लगा। तब उसने कागजात दिखाए। इस पर दलाल के कृत्य का खुलासा हुआ। बुधवार को पीड़ित ने कार्यालय पहुंचकर सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी को आपबीती बताई। साथ ही पुलिस को बुलाया। राम गांव थाने की पुलिस ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित का बयान दर्ज किया। वहीं दलाल पीछे के दरवाजे से ऑफिस से फरार हो गया।

पूरा रैकेट का हो रहा संचालन

सहायक संभागीय परिवहन कार्यालय में विभागीय कर्मचारियों की मिलीभगत से रिलीज ऑर्डर बनाने का पूरा रैकेट संचालित हो रहा है। दलाल ऑफिस में ही बैठकर फर्जी रिलीज ऑर्डर, अधिक रूपया लेकर लाइसेंस बनाने समेत अन्य कार्य करवा रहे हैं।

जांच के बाद दर्ज होगा मुकदमा

फर्जी रिलीज ऑर्डर के द्वारा गाड़ी छुड़वाने का मामला सामने आया है। आरटीओ को जांच सौंपी गई है। जांच के संबंधित के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया जायेगा…एआरटीओ राजीव कुमार।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -