प्रो कबड्डी नीलामी से पहले बढ़ी धड़कनें, द हाई फ्लायर का सभी को बेसब्री से इंतजार

0
22


Advertisement

नई दिल्ली। पवन सहरावत के नाम से तो सब वाकिफ होंगे ही। शुरुआती प्रो कबड्डी लीग में कुछ खास प्रदर्शन ना करने के कारण उन्हें गेम के बाहर बैठाया जाता था। लेकिन, आज कबड्डी का नाम सुनते ही यदि कोई नाम सबसे पहले याद आता है, तो वह है पवन सेहरावत का। आगामी पांच अगस्त को प्रो कबड्डी लीग के 9वें सीजन की नीलामी से पहले ही पवन का डंका हर तरफ बजने लगा है। कबड्डी लवर्स बेसब्री से नीलामी का इंतज़ार कर रहे हैं।

Advertisement

प्रो कबड्डी 2022 की नीलामी में हर टीम उन खिलाड़ियों के लिए बोली लगाएगी जो उनकी टीम को सर्वश्रेष्ठ बना सकते हैं। इसी बीच कबड्डी के हाई फ्लायर के नाम से मशहूर पवन सहरावत का एक दिलचस्प वीडियो स्टार स्पोर्ट्स इंडिया ने देश के अपने बहुभाषी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफार्म, कू ऐप पर पोस्ट किया है। शुरुआती प्रो कबड्डी लीग में जिस पवन ने 53 पॉइंट्स लेकर कुछ खास प्रदर्शन नहीं किया, हाई फ्लायर के नाम से मशहूर वही पवन सहरावत सीज़न 6 और सीज़न 7 में रेड पॉइंट की झड़ी लगाकर सबसे ज्यादा रेड पॉइंट हासिल करने वाला कबड्डी खिलाड़ी बन गया।

  • Gay Cricketer: गे निकला ये धाकड़ क्रिकेटर, संन्यास के बाद किए कई खुलासे

Advertisement

पवन सेहरावत ने अपने प्रो कबड्डी लीग करियर की शुरुआत तीसरे सीज़न में बैंगलुरु बुल्स टीम के साथ की थी। दबंग दिल्ली के खिलाफ सीज़न के पहले मुकाबले में उन्होंने सब्स्टीट्यूट के तौर पर दो अंक हासिल किए थे। इसके बाद जयपुर पिंक पैंथर्स के खिलाफ अगले मैच में उन्होंने सात अंक हासिल किए। सेहरावत ने उस सीज़न के 13 मुकाबलों में कुल 45 अंक हासिल किए। हालाँकि, बैंगलुरु की टीम प्लेऑफ की रेस से बाहर हो गई थी। अगले सीज़न में बैंगलुरु बुल्स ने रोहित कुमार और दीपक कुमार दहिया को भी टीम में शामिल किया। इससे टीम तो जरूर मजबूत हुई, लेकिन पवन सेहरावत को मौके कम मिलने लगे। उन्होंने 10 मैचों में कुल 11 पॉइंट्स हासिल किए। लगातार दूसरी बार बैंगलुरु बुल्स प्लेऑफ में नहीं जा पाई।

प्रो कबड्डी लीग के पाँचवें सीज़न में पवन सेहरावत गुजरात की टीम में चले गए। हालाँकि, ज्यादा वक्त उन्हें बेंच पर ही बैठना पड़ा और 9 मुकाबलों में उन्होंने कुल 10 अंक हासिल किए। पवन सेहरावत के प्रो कबड्डी लीग करियर की शुरुआत भले ही उतनी अच्छी ना रही हो, लेकिन छठा सीज़न पूरी तरह से उनके नाम रहा। उन्होंने बैंगलुरु बुल्स की टीम में वापसी की और उस सीज़न में जबर्दस्त प्रदर्शन किया। पहले ही मुकाबले में पवन ने 20 अंक हासिल करके धमाकेदार शुरुआत की।

ये भी पढ़ें : Asia Cup 2022 : एशिया कप की तारीखों का ऐलान, 28 अगस्त को भिड़ेंगे भारत-पाकिस्तान, जानें शेड्यूल

Advertisement





Source link