प्री-मानसून का असर:बिहार समेत 3 राज्यों में 57 की मौत

0
66

barish copy
  • असम में 7 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित
    24 मई तक बारिश की चेतावनी
    गुवाहाटी/बेंगलुरु/पटना : मानसून से पहले कुछ राज्यों में आंधी और बारिश तबाही बनकर आई है। अकेले बिहार, असम और कर्नाटक तीन ऐसे राज्य हैं, जहां बिजली गिरने और बाढ़ की चपेट में आने से करीब 57 लोगों की जान चली गई है। मौसम विभाग ने 21 से 24 मई तक कई राज्यों में बारिश होने की संभावना जताई है। वहीं, 23 मई को भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। असम में तो हालात सबसे ज्यादा खराब हैं। यहां ब्रह्मपुत्र और उसके साथ बहने वाली नदियों में बाढ़ ने इस कदर तबाही मचा रखी है कि सैकड़ों गांव जल समाधि ले चुके हैं। वहीं 7 लाख से ज्यादा लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं। फसलें भी चौपट हो गई हैं। असम में 500 से ज्यादा लोग रेलवे ट्रैक पर रहने को मजबूर हैं। यहां अब तक 15 लोगों की जान चली गई है। सबसे ज्यादा 33 मौतें बिहार में बिजली गिरने से हुई हैं। वहीं कर्नाटक में भी 9 लोगों की मौत की खबर है। वहीं खराब मौसम की वजह से दिल्ली की 10 फ्लाइट्स अमृतसर एयरपोर्ट पर लैंड करानी पड़ी।​​
    असम: 29 जिलों के 7.12 लाख लोग बेघर : असम राज्य आपदा प्रबंधन के मुताबिक, राज्य के 29 जिलों में करीब 7.12 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। जमुनामुख जिले के दो गांवों के 500 से ज्यादा परिवारों ने रेलवे ट्रैक पर अपना अस्थायी आशियाना बना रखा है। अकेले नागांव जिले में 3.36 लाख से अधिक लोग प्रभावित हैं, जबकि कछार जिले में 1.66 लाख, होजई में 1.11 लाख और दरांग जिले में 52709 लोग प्रभावित हुए हैं।
    बिहार: 16 जिलों में 33 की मौत: बिहार में आंधी तूफान और बिजली गिरने से 16 जिलों में कम से कम 33 लोगों की मौत हो गई। सीएम नीतीश कुमार ने घटनाओं में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को 4 लाख रुपए की मदद देने का एलान किया। राज्य मौसम विभाग का कहना है कि रविवार को कुछ हिस्सों में आंधी तूफान के साथ हल्की बारिश हो सकती है। इसकी वजह है कि यहां प्री-मानसून गतिविधियां अब सक्रिय हो गई हैं।
    कर्नाटक: 9 की मौत, स्कूल-कॉलेज बंद : कर्नाटक में प्री-मानसून की दस्तक से हालात बदतर हैं। जलभराव से हुए हादसों के कारण नौ लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग घायल हैं। एहतियातन सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। राहत और बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की चार टीमें तैनात की गई हैं। बारिश के कारण 23 घर क्षतिग्रस्त होने की जानकारी मिली है।
    हरियाणा: फतेहाबाद में गिरे ओले, कई जगह बरसात : हरियाणा में शनिवार को मौसम का मिजाज एक बार फिर बदल गया। कई जिलों में जहां बूंदाबांदी का दौर चला, वहीं फतेहाबाद के भूथन कलां समेत कई गांवों में ओले भी गिरे। आसमान में सुबह से ही बादल विचर रहे हैं और इस वजह से तापमान में गिरावट आई और लोगों को गर्मी से राहत मिली। इस बीच शनिवार को फरीदाबाद सबसे ज्यादा गर्म रहा। यहां बोपनी में पारा 45 डिग्री को पार कर गया।