HomeNationalप्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के विरुद्ध मोर्चा खोलने वाला दरोगा...

प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के विरुद्ध मोर्चा खोलने वाला दरोगा…

Advertisement

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विरुद्ध सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने और मोर्चा खोलने वाले दरोगा को जबरिया रिटायर कर दिया गया है। यह कार्रवाई स्क्रीनिंग के बाद शासन स्तर से की गई है। हालांकि दरोगा ने इस कार्रवाई को गलत ठहराया है और इसे अन्याय करार दिया है।

Advertisement

शासन ने ऐसे अधिकारी और कर्मचारी को अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्त करने के लिए कहा है जिनकी उम्र 50 वर्ष या उससे अधिक है और बीमार हैं अथवा भ्रष्टाचार में लिप्त हैं। काम कर पाने में अक्षम माने जाने वाले अधिकारी और कर्मचारी को भी अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्ति के दायरे में लाने का आदेश है। इसी कडी में दरोगा नागेंद्र सिंह यादव को अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्ति दी गई है।

Advertisement

दरोगा नागेंद्र उस समय चर्चा में आया था जब उसने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के विरुद्ध अभद्र टिप्पणी की थी। अपर पुलिस आयुक्त आनंद कुलकर्णी के मुताबिक दारोगा नागेंद्र सिंह यादव के विरुद्ध इस मामले में जांच की गई थी। जांच के दौरान यह पाया गया कि नागेंद्र सिंह यादव को 10 वर्षों में तीन बार परिनिंदा लेख से दंडित किया जा चुका है । उसने सोशल मीडिया पर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के खिलाफ अभद्र टिप्पणी भी की।

वह कई बार आला अधिकारियों से भी फोन पर अभद्रता कर चुका है। इतना ही नहीं परीक्षण में शराब पीकर ड्यूटी करने की पुष्टि भी हो चुकी है। वह राजनीतिक दलों के कार्यक्रमों में भी शामिल होता रहा है। काम में रुचि नहीं लेता और बिना बताए ड्यूटी से गायब रहता है। ऐसे में उसे अनिवार्य रूप से सेवानिवृत्त कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें:-मुरादाबाद पुलिस में जबरिया रिटायर का संदेश सोशल मीडिया पर वायरल, यूपी पुलिस ने बताया अफवाह

Advertisement

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments