पोल राइडिंग में विश्व रिकॉर्ड बनाकर बढ़ाया देश का मान…

0
43

बरेली, अमृत विचार। अगर आप कुछ करने की ठान लें तो मुश्किल राहें भी आसान हो जाती हैं। रिकॉर्ड आपके नाम हो जाते हैं। सीमा सुरक्षा बल में तैनात इंस्पेक्टर अवधेश कुमार सिंह ने इस बात को साबित कर दिया है। उन्होंने पोल राइडिंग प्रतियोगिता में अव्वल आकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराकर सेना ही नहीं बल्कि देश का मान भी बढ़ाया है।

Advertisement

उनके साथ ही उनके छोटे भाई विश्वजीत भाटिया भी उनकी जाबांज टीम का हिस्सा हैं। भविष्य में वह भी भाई के मार्ग दर्शन में कई रिकॉर्ड अपने नाम करेंगे।

पापा की बाइक से करते थे स्टंट

गोरखपुर निवासी अवधेश कुमार सिंह को बचपन से ही मोटर साइकिल चलाने का शौक था। उन्होंने बताया कि उनके पिता बाबू लाल भी भारतीय सेना में थे।अवकाश पर घर आने पर पिता के साथ वह बुलेट से शहर में घूमते थे। 12 साल की उम्र में ही पिता की बुलेट लेकर स्टंट करने का प्रयास किया तो चोट भी लगी, लेकिन किसे पता था कि यह चोट उन्हें आगे चलकर रिकॉर्ड धारी बना देगी। 2005 में सेना में भर्ती हुए और 2010 में बीएसएफ में आने के बाद जाबांज टीम का हिस्सा बने। कई प्रदेशों में हैरत अंगेज करतब दिखाने का मौका मिला।

2018 में बनाया विश्व रिकॉर्ड

इंस्पेक्टर अवधेश कुमार सिंह चार रिकॉर्ड अपने नाम कर चुके हैं, लेकिन वर्ष 2018 के रिकॉर्ड ने उन्हें अलग पहचान दी। 24 अप्रैल को दिल्ली स्थित आरके बाधवा स्थल पर आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने पोल राइडिंग में 10 घंटे 24 मिनट और 22 सेकेंड तक स्टंट कर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया।.