पॉक्सो एक्ट मामलों की जांच दो माह में हो पूरी : कार्यवाहक डीजीपी

Advertisement

मृत विचार ब्यूरो/लखनऊ। प्रदेश के कार्यवाहक डीजीपी देवेंद्र सिंह चौहान ने सोमवार को मातहतों को निर्देश दिए हैं कि पाक्सो एक्ट के तहत दर्ज मामलों की जांच दो माह में पूरी कर चार्जशीट न्यायालय को भेजें। उन्होंने नाराजगी जताई कि पहले भी इससे संबंधित निर्देश जारी किए गए थे लेकिन उसका कड़ाई से पालन नहीं किया जा रहा है। इस संबंध में उन्होंने सभी जिलों के पुलिस कप्तानों और पुलिस आयुक्तों को पत्र लिखा है।

Advertisement

पत्र में कहा गया है कि बच्चों के लैंगिग शोषण व दुरुपयोग जैसी घटनाएं अत्यंत गंभीर व निंदनीय होने के साथ समाज व न्याय व्यवस्था के लिए चिंतन का विषय है। ऐसे मामलों में त्वरित कार्रवाई और विवेचना में वैज्ञानिक तथ्यों व साक्ष्यों के समावेश पर जोर दिया गया है, जिससे कि अपराधियों को न्यायालय में दंडित कराया जा सके।

Advertisement

चौहान ने कहा है कि ऐसे मामलों में तत्काल मुकदमा दर्ज करने के साथ ही घटनास्थल से बरामद किए गए साक्ष्यों को दो दिन के भीतर विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जाए। वहां से 15 दिन के भीतर आख्या प्राप्त कर विवेचना पूरी की जाए।

यह भी पढ़ें:-हल्द्वानी: डीजीपी के जनता दरबार से फरियादी उठा ले गई पुलिस

Advertisement