पुलिस की पूछताछ से शर्मसार हुए किसान ने की आत्महत्या

हरदोई, अमृत विचार। बेटे की शादी में कर्ज़दार होने और उसके बाद चोर बेटे का बाप होने के तानों से टूट चुके किसान ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया गया है कि चोरी के मामले में पड़ताल करने पहुंची हरियाणा पुलिस ने जिस ढंग से पूछताछ की,वह ढंग उसे पसंद नहीं आया, नतीजतन किसान ने शर्मसार हो कर इस तरह का कदम उठा लिया।

Advertisement

बताते हैं कि पचदेवरा थाने के मुर्तज़ापुर निवासी 55 वर्षीय राजवीर पुत्र रामभरोसे खेती-बाड़ी करता था। बुधवार की सुबह कमरे के कुंडे में अंगौछे के फंदे से लटकता हुआ उसका शव देखा गया। इसका पता होते ही घर वालों में कोहराम मच गया। इस बारे में बताया गया है कि राजवीर ने डेढ़ माह पहले अपने बेटे गोविंद की शादी की थी। शादी के बाद कुछ कर्ज़ हो गया था। जिसके चलते राजवीर को खेत बेचना पड़ा था। जिससे वह परेशान चल रहा था।

इसी बीच दो दिन पहले हरियाणा पुलिस राजवीर के बेटे गोविंद की तलाश में उसके घर पहुंची। गोविंद पर आरोप है कि हरियाणा के एक सरदार के 95000 रुपये लेकर वह वहां से भाग आया। हरियाणा पुलिस ने अपने अंदाज में उससे पूछताछ की और पांच दिन की मोहलत देकर चली गई। एक तो सिर पर कर्ज़ का बोझ और ऊपर से बेटे की हरकत ने राजवीर को इतना शर्मसार कर दिया कि उसके सामने आत्महत्या के अलावा दूसरा कोई रास्ता नहीं बचा। इसी के चलते राजवीर ने फांसी लगा ली।

बताते हैं कि राजवीर के तीन बेटेऔर एक बेटी है। पत्नी सोनकली का रो-रोकर बुरा हाल है। किसान के घर वालों ने उसके शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया है। उन्होंने शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया। पचदेवरा एसएचओ अनिल कुमार ने बताया कि इस बारे में जानकारी करने पर पता चला कि राजवीर पेट दर्द से परेशान रहता था। जिसके चलते उसने आत्महत्या की है।

यह भी पढ़ें –मेरठ: लाला लाजपत राय मेडिकल कॉलेज की जूनियर रेजिडेंट डॉक्टर ने की आत्महत्या, जांच में जुटी पुलिस