नैन्सी पेलोसी के दौरे से पहले ताइवान पर चीन का साइबर हमला!

Advertisement

वाशिंगटन। अमेरिका और चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच ताइवान पर साइबर अटैक हुआ है। ताइवान सरकार की वेबसाइट डाउन हो गई है। ताइवान के राष्ट्रपति कार्यालय की वेबसाइट विवादित क्षेत्र में अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष नैंसी पेलोसी की यात्रा से पहले एक विदेशी साइबर हमले की चपेट में आ गई है। इस पर 502 server error दिखाई दे रहा है. हालांकि वेबसाइट जल्द ही नॉर्मल हो गई। बता दें कि नैंसी पेलोसी के मंगलवार रात ताइवान पहुंचने की उम्मीद है।

Advertisement

अमेरिका की हाउस स्पीकर नैन्सी पेलोसी आज ताइवान दौरे पर आ रही हैं। चीन नहीं चाहता कि अमेरिका ताइवान के मामले में दखल दे और उनका कोई प्रतिनधि ताइवान जाए। चीन ने अमेरिका को इसका परिणाम भुगतने की चेतावनी भी दी है। चीन का दावा है कि नैन्सी के दौरे की वजह से इलाके में शांति भंग होगी और अस्थिरता आएगी। उसका कहना है कि चीन और अमेरिका के संबंधों की नींव वन-चाइना सिद्धांत है। ऐसे में चीन ‘ताइवान स्वतंत्रता’ की तरफ उठाए जा रहे अलगाववादी कदमों का विरोध करता है। चीन मानता है कि अमेरिका या किसी बाहरी को इस मामले में दखल नहीं देनी चाहिए। चीन की धमकियों के बीच ताइवान भी अलर्ट मोड पर है। उनकी फोर्स ने युद्ध की पूरी तैयारी कर ली है।

Advertisement

इससे पहले, चीन ने सोमवार को कहा कि वह पेलोसी की ताइवान की यात्रा करने की योजना से जुड़ी खबरों पर करीबी नजर रख रहा है। उसने साथ ही अमेरिका को आगाह किया कि अगर पेलोसी ताइवान की यात्रा करती हैं तो उसकी सेना ‘‘कड़ा जवाब’’ देगी और इसके ‘‘गंभीर नतीजे’’ भुगतने पड़ेंगे। ‘सीएनएन’ ने ताइवान और अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों के हवाले से कहा कि बाइडन प्रशासन की चेतावनियों के बावजूद पेलोसी के ताइवान की यात्रा करने की संभावना है।

ये भी पढ़ें:- Sri Lanka Crisis: विक्रमसिंघे का निजी आवास जलाने के मामले में और तीन लोग गिरफ्तार

Advertisement