दो साल से झेल रहे दर्द, अब 212 करोड़ से ब्रांच सीवर लाइन बिछानी कर दी शुरू

0
25

Advertisement

बरेली, अमृत विचार। 54 करोड़ 85 लाख रुपये की लागत से ट्रंक सीवर लाइन बिछाने के दौरान शहर के लोग दो साल से बहुत कुछ झेल रहे हैं। खोदाई ने सड़कों की रूपरेखा पलट दी जो आज तक ठीक नहीं हुई है। कई सड़कें ऐसी पड़ी हैं, जिन पर चलने के दौरान मरीज, बुजुर्गों की रीढ़ और कमर की हड्डियां दर्द करने लगती हैं। ईसाइयों की पुलिया से लेकर चौकी चौराहे तक सड़क जल निगम और नगर निगम की तकरार में राहगीरों को दर्द दे रही है।

Advertisement

अभी ट्रंक लाइन का कार्य सितंबर तक पूरा करने का दावा है। ऐसी स्थिति में जल निगम ने शहर के लोगों को एक और दर्द देने के लिए अंदरखाने गली-मोहल्लों में ब्रांच सीवर लाइन बिछानी शुरू कर दी। इसमें शहर की प्रमुख सड़कों को छोड़कर वार्डों की गलियां खोदी जाएंगी। करीब 212 करोड़ की लागत से शहरभर के करीब 17 किलोमीटर के दायरे में ब्रांच सीवर लाइन बिछाने का कार्य जून 2020 से दिखाया जा रहा है।

Advertisement

इसमें सबसे दिलचस्प बात यह है कि इस प्रोजेक्ट के बारे में शहर के लोग अभी तक अनभिज्ञ हैं। जबकि जल निगम का दावा है कि करीब चार किलोमीटर ब्रांच सीवर लाइन बिछाकर करीब 10 करोड़ रुपये की धनराशि खर्च की जा चुकी है। इसका खुलासा जल निगम के अधिशासी अभियंता करमेंद्र कुमार कटियार की उस रिपोर्ट से हुआ, जो 21 जुलाई को कलेक्ट्रेट में भेजी गई।

जून 2020 से कार्य प्रारंभ और करीब 10 करोड़ खर्च कर दिए
अधिशासी अभियंता की ओर से कलेक्ट्रेट भेजे पत्र के अनुसार बरेली सीवरेज योजना सेंट्रल जोन (ब्रांच सीवर लाइन) की अनुमानित लागत 212 करोड़ 21 लाख रुपये है। इसमें से अब तक 34 करोड़ 88 लाख 81 हजार रुपये की धनराशि अवमुक्त होने और 9.93 करोड़ रुपये की धनराशि व्यय हो चुकी है।

बरेली नगर में करीब 17 किलोमीटर के दायरे में ब्रांच सीवर लाइन बिछाने की कार्ययोजना है। इसमें 31482 गृह संयोजन का कार्य भी किया जाना है। अधिशासी अभियंता ने भौतिक प्रगति में चार किलोमीटर के क्षेत्र में ब्रांच सीवर लाइन बिछाने की बात लिखते हुए पत्र में कार्य प्रारंभ की तारीख जून, 2020 दिखाई है। उसमें यह भी लिखा है कि मार्च 2023 तक ब्रांच सीवर लाइन बिछाने का कार्य पूर्ण किया जाना है।

सितंबर तक ट्रंक सीवर लाइन बिछाने का कार्य पूर्ण करने का दावा
अधिशासी अभियंता ने बरेली सीवरेज योजना सेंट्रल जोन (ट्रंक सीवर लाइन) की अनुमानित लागत 54 करोड़ 85 लाख रुपये बताते हुए अवमुक्त धनराशि 49 करोड़ 73 लाख में से 47 करोड़ 44 लाख रुपये खर्च होने की बात पत्र में लिखी है। यह भी लिखा है कि करीब 12.74 किलोमीटर क्षेत्र में ट्रंक सीवर लाइन बिछाई जानी है। इसमें 4509 संयोजन का कार्य किया जाना बताया है। भौतिक प्रगति 11.95 किलोमीटर में ट्रंक सीवर लाइन बिछाना बताया है। 345 नग हाउस कनेक्टिंग चैंबर का निर्माण कार्य पूर्ण बताते हुए सीवर लाइन का कार्य सितंबर तक पूर्ण होने का दावा किया है।

2019 से बन रहा एसटीपी आज तक नहीं बन सका
बरेली के सीवरेज के पानी को ट्रीट करने के लिए एसटीपी का निर्माण जून, 2019 से किया जा रहा है लेकिन आज तक निर्माण कार्य पूरा नहीं हुआ है। करीब 88 करोड़ 9 लाख की स्वीकृति धनराशि में से 45 करोड़ 51 लाख रुपये अवमुक्त हुए। इसके सापेक्ष 36 करोड़ 38 लाख की धनराशि खर्च होनी बताई। 35 एमएलडी का एसटीपी बाकरगंज क्षेत्र में बनाया जा रहा है। इसके कार्य पूर्ण करने की तारीख सितंबर माह है लेकिन अभी तक 81 प्रतिशत कार्य पूर्ण होने का दावा किया गया है।

यह भी पढ़ें- बरेली: सीएनजी गैस के रेट बढ़ने से वाहन चालक धंधा छोड़ने को मजबूर

Advertisement