दुर्ग की जूही अमेरिका में मिसेज ग्लोबल कांटेस्ट में भारत को करेंगी प्रतिनिधित्व

0
17

रायपुर
दुर्ग शहर की रहने वाली जूही व्यास ने पिछले दिनों मुंबई में हुई आईएलसी मिसेज इंडिया प्रतियोगिता जीत ली है और वह जल्द ही अमेरिका में होने वाले मिसेज ग्लोबल प्रतियोगिता में भारत की ओर से प्रतिनिधित्व करते हुई नजर आएंगी। सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग होने के साथ ही वर्तमान में जूही फेमस सैलून चला रही हैं।

जूही ने मीडिया से बातचीत करते हुए बताया कि वह एक उच्च मध्यम वर्गीय परिवार से हैं तथा वह एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर भी हैं। पढ़ाई पूरी करने के बाद अपनी मां का व्यवसाय संभाली और आज दुर्ग में एक फेमस सैलून चला रही हैं। यहीं से उन्होंने मिसेज इंडिया कांटेस्ट में जाने का मन बनाया। कोरोना काल में उन्होंने इस प्रतियोगिता के लिए फार्म भरा, कोविड के चलते सभी एक्टिविटी बंद होने से उन्हें इसके लिए तैयारी करने का काफी अच्छा समय मिल गया और घर पर ही रहकर उन्होंने इस प्रतियोगिता की पूरी तैयारी की। इसके बाद अपने आपको अपग्रेड करने के लिए मुंबई जाकर एक एकेडमी से कोर्स किया। जब जूही मुंबई में मिसेज इंडिया के कॉन्टेस्ट में गईं तो देखा कि वहां देश भर से 51 महिलाओं ने भाग लिया है।

जूही ने बताया कि मिसेज इंडिया प्रतियोगिता में भाग लने वाली महिलाओं में उनके अंदर की काबिलियत के साथ ही उनकी खूबसूरती, बॉडी फिटनेस और लंबाई का विशेष ध्यान दिया जाता है। हालांकि इस बार मिसेज इंडिया में पांच फिट पांच इंच की जगह पांच फिट तीन इंच लंबी महिलाओं को भी एंट्री दी गई, लेकिन जिन्होंने भी फाइनल में जगह बनाई वह सब 5.7 फिट लंबी थीं। जूही अपनी फिटनेस को बनाए रखने के लिए वर्कआउट के साथ ही भरतनाट्यम भी करती हैं।

जूही ने बताया कि उनके ससुर स्व. कैप्टन सुभाष व्यास थे, सास डॉ. सविता व्यास गायनाकोलॉजिस्ट हैं और पति शांतनु व्यास बिजनेसमैन हैं। इसके अलावा अन्य जितने भी सदस्य हैं वह काफी ब्रांड माइंडेड हैं। मिसेज इंडिया प्रतियोगिता में कई तरह के ड्रेसेज पहनने पड़ते हैं, लेकिन मेरे ससुराल के लोगों ने हमेशा प्रोत्साहन दिया है। इस फील्ड में बाकी शादीशुदा महिलाओं को भी आना चाहिए। इसके लिए महिलाओं की सास के साथ उनके परिवार वालों को भी सोच को बदलना पड़ेगा।