HomeRegionalडाक टिकट का संग्रह करने वाले छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति, जानें कैसे...

डाक टिकट का संग्रह करने वाले छात्रों को मिलेगी छात्रवृत्ति, जानें कैसे मिलेगा लाभ?

Advertisement

बरेली, अमृत विचार। फिलैटली यानि डाक टिकटों का संग्रह करने वाले छात्र-छात्राओं को डाक विभाग छात्रवृत्ति दे रहा है। इसके लिए डाक विभाग के कर्मचारियों की ओर से विद्यालयों में जाकर छात्रों को जागरूक किया जा रहा है। जागरूकता की कमी से छात्र अभी आवेदन नहीं कर रहे हैं। इसमें परीक्षा के बाद चयनित बच्चों को सालाना छह हजार रुपये मिलेंगे।

Advertisement

डाक विभाग मान्यता प्राप्त विद्यालयों के कक्षा 6 से लेकर 9वीं तक के छात्रों के लिए दीनदयाल स्पर्श योजना के तहत छात्रवृत्ति देगा। योजना के तहत डाक-टिकट संग्रह करने और डाक टिकटों पर शोध करने वाले मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति दी जाएगी। बच्चों के आवेदन आने के बाद विभाग परीक्षा आयोजित करेगा। आवेदन के लिए विद्यार्थी को अंतिम परीक्षा में कम से कम 60 प्रतिशत अंक अथवा ग्रेड प्वांइट लाने होंगे। अनुसूचित जाति और जनजाति के उम्मीदवारों को पांच प्रतिशत छूट दी जाएगी। चयनित छात्रों को इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक या डाकघर बचत बैंक की कोर बैंकिंग सुविधा वाली शाखा में अभिभावकों के साथ एक संयुक्त खाता खुलवाना होगा। चयनित विद्यार्थी को हर तीन माह में 1500 रुपये दिए जाएंगे।

Advertisement

यह है छात्रवृत्ति योजना
फिलैटली को शौक के रूप में जारी रखने के लिए अखिल भारतीय स्तर पर विद्यार्थियों को 920 छात्रवृत्तियां दी जानी हैं। प्रत्येक डाक परिमंडल, कक्षा छह से लेकर कक्षा नौ तक के दस-दस विद्यार्थियों को, अधिकतम 40, छात्रवृत्तियां प्रदान करेगा। डाक विभाग की ओर से दीनदयाल स्पर्श योजना डाक टिकट के अध्ययन में रुचि पैदा करने व फिलेटली की पहुंच बढ़ाने के लिए शुरू की गई है।

एक साल के लिए होगा चयन
योजना के अनुसार छात्रवृत्ति के लिए चयन एक साल के लिए किया जाएगा। उम्मीदवार भारत में मान्यता प्राप्त विद्यालय का छात्र हाेना चाहिए। संबंधित विद्यालय में फिलैटली क्लब होना चाहिए व उम्मीदवार उसका सदस्य होना चाहिए। स्कूल में क्लब नहीं है तो ऐसे विद्यार्थी जिनका अपना फिलेटली खाता हो, के नाम पर भी विचार किया जा सकता है। उम्मीदवार का शैक्षणिक रिकॉर्ड उत्तम होना चाहिए। आवेदक ने अंतिम वर्ष में न्यूनतम 60 प्रतिशत अंक अथवा समकक्ष अंक प्राप्त किया होना अनिवार्य है। इच्छुक उम्मीदवार अपने आवेदन पत्र 31 दिसंबर तक प्रवर अधीक्षक डाक व प्रधान डाकघर में योजना के बारे में आवेदन कर सकते है।

डाक विभाग की ओर से डाक टिकट संग्रहित कर रहे विद्यार्थियों के लिए दीनदयाल स्पर्श योजना के तहत जागरुक किया जा रहा है। इसके लिए डाककर्मियों की ओर से लगातार विद्यालयों में जाकर जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा हैबीएल मीना, सीनियर पोस्टमास्टर, प्रधान डाकघर।

यह भी पढ़ें- बरेली: कुतुबखाना में कॉस्मेटिक दुकानों पर छापा, लाखों का डुप्लीकेट माल बरामद

Advertisement

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments