HomeWorldजो बाइेडन ने की बंदूक हिंसा को कम करने की अपील

जो बाइेडन ने की बंदूक हिंसा को कम करने की अपील

Advertisement

वाशिंगटन। अमेरिका के विस्कॉन्सिन गुरुद्वारे पर हमले के दसवीं बरसी पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइेडन ने बंदूक हिंसा को कम करने की अपील की है। जो बाइडेन ने 10 साल पहले हुए इस जघन्य कृत्य की निंदा भी की। उन्होंने घरेलू आतंकवाद और श्वेत वर्चस्ववाद के जहर सहित सभी रूपों में नफरत को खतम करने के लिए अमेरिका में बंदूक की हिंसा कम करने और हथियारों पर रोक लगाने का आवाहन किया है।

Advertisement

पांच अगस्त 2012 को एक श्वेत वर्चस्ववादी ने विस्कॉन्सिन में ओक क्रीक गुरुद्वारे के भीतर गोलियां चलायी थी, जिसमें छह लोगों की मौत हो गयी थी। इस हमले में नि:शक्त हुए सातवें व्यक्ति की उसकी चोटों के कारण 2020 में मौत हो गयी थी।

Advertisement

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइेडन ने शुक्रवार को एक बयान में कहा कि ओक क्रीक गोलीबारी हमारे देश के इतिहास में सिख अमेरिकियों पर सबसे जानलेवा हमला था। यह दुख की बात है कि हमारे देश के प्रार्थना स्थलों पर हमले पिछले दशक से आम हो गए हैं। यह हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम इस नफरत को नकार दें। जब कोई इबादत में अपना सिर झुकाता है तो उसे अपनी जान का खतरा नहीं होना चाहिए।

राष्ट्रपति ने कहा कि ओक क्रीक घटना ने हमें एक राह दिखाई और उन्होंने यह याद किया कि कैसे हमले के बाद सिख समुदाय अपने गुरुद्वारे में लौट आया था और खुद से इसे साफ-सुथरा करने पर जोर दिया था। उन्होंने कहा कि शाश्वत आशावाद की भावना से प्रेरित होकर हमें बंदूक की हिंसा कम करने और साथी अमेरिकियों को सुरक्षित रखने के लिए कदम उठाते रहने चाहिए। हमें प्रार्थना स्थलों की रक्षा करने और घरेलू आतंकवाद तथा श्वेत वर्चस्ववाद के जहर समेत नफरत के सभी रूपों को हराने के लिए और ठोस कदम उठाने चाहिए।

ये भी पढ़ें : अभी एक साल और झेलना होगा आर्थिक संकट, नए क्षेत्रों पर देना होगा ध्यान : विक्रमसिंघे

Advertisement

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments