जालसाजों ने हेड कांस्टेबल समेत दो से ठगे 10 लाख रुपये, केस दर्ज

0
38

लखनऊ। हजरतगंज थाने में तैनात हेड कांस्टेबल ने जालसाजों के खिलाफ ढाई लाख रुपये हड़पने की प्राथमिकी दर्ज कराई है। जालसाजों ने हेड कांस्टेबल के दोस्त को भी नहीं बक्शा। उसके दोस्त से भी पांच लाख रुपये लेकर हजम कर लिए हैं। वहीं बिजनौर थाने में महिला ने धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई है।

Advertisement

हजरतगंज थाने में अभिसूचना कार्यालय में तैनात हेड कांस्टेबल विशाल सिंह भदौरिया आवासीय जमीन लेना चाहते थे। इसको लेकर उनकी मुलाकात कृष्णानगर के शैलेंद्र प्रताप सिंह और मुनेंद्र सिंह से हुई थी। दोनों ही लोग रियल एस्टेट का कारोबार करते हैं। पीड़ित ने बताया कि जालसाजों ने उन्हें बजरंग बली कॉलोनी में एक आवासीय जमीन दिखाई थी।

विशाल के साथ उनके दोस्त अंकित दुबे ने भी प्लॉट खरीदने का मन बनाया था। जमीन को लेकर सौदेबाजी की गई थी। दोनों ने जालासाजों ने को दस लाख रुपये दिए थे। इसके बावजूद प्लॉट नहीं मिला। इसके बाद पीड़ित हेड कांस्टेबल और उसके दोस्त ने एसीपी हजरतगंज से शिकायत की। एसीपी के आदेश पर पुलिस ने जालसाजों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

फर्जी दस्तावेज के आधार पर हड़पी जमीन

सरोजनीनगर थानाक्षेत्र की रामदुलारी ने बताया कि बिजनौर के रहीमाबाद क्षेत्र में उनकी जमीन है। जिस पर विवाद चल रहा है। पीड़िता ने विपक्षीयों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए हरिकेश से मदद मांगी थी। महिला का आरोप है कि हरिकेश एफआईआर दर्ज करवाने की बात कहकर उसे रजिस्ट्रार आफिस ले गया।धोखाधड़ी कर आरोपी ने जमीन के कागज पर दस्तखत करा लिए थे।

फिर महिला की जमीन बेच दी थी। जब खरीदार जमीन पर कब्जा लेना पहुंचा तो रामदुलारी को सच्चाई पता चली। इसके बाद महिला ने डीसीपी दक्षिण गोपाल चौधरी से मिल कर शिकायत की थी। जिनके निर्देश पर हरिकेश, मुकेश, सुभाष, अमर सिंह और मुकेश साहू के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

यह भी पढ़ें:-हल्द्वानी: उत्तराखंड का सबसे बड़ा जालसाज रितेश पांडे गिरफ्तार, सरकारी नौकरी लगवाने का लेता था ठेका