जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे

गुजरे जामने के अभिनेता धर्मेंद्र (Dharmendra) आज भी लोगों के बीच में उतने ही फेमस हैं जितना वह अपने दौर में हुआ करते थे। उस दौर में उनकी गिनती बॉलीवुड के टॉप अभिनेताओं की लिस्ट में होती थी। लेकिन धर्मेंद्र (Dharmendra) के लिए यहां तक का सफर आसान नहीं था। लुधियाना जिले के एक छोटे से गांव नसराली में जन्में धरम सिंह देओल को अपने बचपन से ही हिंदी फिल्मों का बहुत शौक था।

जिसके लिए पैदल की काफी मीलों की सफर तय कर सिनेमा घर फिल्म देखने जाया करते थे। लेकिन इन फिल्मों को देखते – देखते खुद अभिनय करने का शौक कब पैदा हो गया यह धर्मेंद्र (Dharmendra) को भी पता नहीं चला। आज हम इस लेख के जरिये धर्मेंद्र के हीरो बनने के सफर को बताने वाले हैं।

Dharmendra का सफर रहा मुश्किलों भरा

जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे, इस नौकरी से कमाए महज 200 रूपये
जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे, इस नौकरी से कमाए महज 200 रूपये

दरअसल छोटे से गांव से करोड़ों भारतीय नौजवानों की तरह हीरो बनने का सपना लिए धर्मेंद्र (Dharmendra) को जब फिल्मफेयर के टैलेंट अवॉर्ड के बारे में मालूम हुआ। उन्होंने बिना देर करें इस फॉर्म को भर दिया। लेकिन यह रास्ता उनके लिए आसान नहीं होने वाला था। उन्हें अपने परिवार को मनाने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ी। जिसके बाद वह मुंबई पहुंचे। लेकिन वह मुंबई तो चले गए लेकिन उनके पास वहां रहने के लिए भी कोई इंतजाम नहीं था न ही उनके पास खाने तक के पैसे थे। 

महज 200 में धर्मेंद्र ने किया गुजारा

जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे, इस नौकरी से कमाए महज 200 रूपये
जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे, इस नौकरी से कमाए महज 200 रूपये

बता दें कि मुंबई जैसे बड़े शहर में गुजारा करने के लिए धर्मेंद्र ने ड्रिलिंग फर्म में काम करना शुरू कर दिया। इस नौकरी से उन्हें महीने में महज 200 रुपए मिला करते थे और रहने के लिए उन्होंने एक गैरेज में में अपना इंतजाम किया। वहीं फिल्मफेयर मैगजीन के न्यू टैलेंट अवॉर्ड में हिस्सा लेने का दिन भी आ गया। जहां देश भर से मंझे हुए नौजवान आए थे। लेकिन धर्मेंद्र (Dharmendra) ने सभी को मात दें दिया और इस में जीत हासिल की। 

इस डायरेक्टर ने धर्मेंद्र को दिया उनका पहला ब्रेक

जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे, इस नौकरी से कमाए महज 200 रूपये
जब Dharmendra के पास नहीं थे खाने तक के पैसे, इस नौकरी से कमाए महज 200 रूपये

जानकारी के अनुसार कॉन्टेस्ट के विजेता होने के नाते धर्मेंद्र (Dharmendra) को एक फिल्म में काम करने का मौका देना था। लेकिन यह फिल्म कभी नहीं बनी। जिसके बाद धर्मेंद्र काम की तलाश में दर – दर भटकने लगे। कभी निर्माताओं के दफ्तर चक्कर लगाते तो कभी ऑडिशन में लाइन लगाते। यह सिलसिला कई महीनों तक चलता रहा। इसके बावजूद उन्हें किसी फिल्म में कोई काम नहीं मिला। लेकिन एक बार डायरेक्टर अर्जुन हिंगोरानी की नजर उन पर पड़ी और उन्होंने एक्टर को ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे से’ ब्रेक दिया। यह फिल्म हिट रही इसके बाद धर्मेंद्र ने अपनी जिंदगी में कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

 

यह भी पढ़िये :

जब भूख से तड़प कर Dharmendra ने खा लिया था इसबगोल, डॉक्टर ने दे दी थी यह सलाह|

Dharmendra और Hema Malini की शादी की खबर सुनकर Sunny Deol ने उठाया था ऐसा कदम, एक्टर को हुआ पछतावा|