घर की इस दिशा में लगाए मोरपंख ,जाग जाएगी सोइ हुई किस्मत

मोर हमारा रष्ट्रीय पक्षी है लेकिन मोर का हिन्दू धर्म में भी काफी महत्व है मोर भगवान कृष्ण के खास माने जाते है कृष्णजी हमेशा की मूर्ति बिना मोरपंखी के अधुरो मानी जाती है भगवान कृष्ण के साथ -साथ भगवान गणेश ,कार्तिकेय और इंद्रदेव को भी मोरपंख से काफी लगाव है मोर बहुत खूबसूरत  पक्षी है चमकदार लंबी गहरे नील रंग की गर्दन मोर को बाकी सभी पक्षियों से अलग और आकर्षक बनाता है 

pic
लोग अपने घर को सजाने के लिए भी मोर के पंख का उपयोग करते है कुछ लोग मोरपंख का इस्तेमाल घर की छिपकली को भगाने के लिए करते है मोरपंख को रखने से पहले वास्तु के अनुसार कई नियमों का पालन करना पड़ता है आज हम आपको मोरपंख के नियमों के बारे में बताएंगे 
वास्तु शास्त्र के अनुसार दक्षिण दिशा में मोरपंख रखने से आर्थिक तंगी दूर होती है इस दिशा में मोरपंख रखने से कभी धन की कमी नहीं होती है मोरपंख को घर की पूर्व या फिर उत्तर पश्चिम दिशा की तरफ रखना चाहिए उत्तर पश्चिम दिशा में मोरपंख रखने से कुंडली से राहु दोष कम होता है बच्चों का पढ़ाई में मन लगाने के लिए मोरपंख को बच्चों के स्टडी टेबल के पास रखें लिविंग रूम की पूर्व में स्थित दीवार पर सात मोरपंखों का गुच्छा रखने से घर के क्लेश से छुटकारा मिल जाएगा मैरिड लाइफ में खुशी के लिए बैडरूम में 2 मोरपंख रख दें 

pic
मोरपंख का इस्तेमाल घर के वास्तु दोष दूर करने के लिए भी किया जाता है 8 छोटे -छोटे मोरपंख को एक साथ निचे की तरफ से बाँध लें ॐ नम : शिवाय का जाप करते हुए सभी मोरपंख को उत्तर या फिर पूर्व दिशा में लड़ा दें