घरों की छत पर लगे विज्ञापन से 75 प्रतिशत कर वसूलेगा निगम

Advertisement

बरेली, अमृत विचार। नगर निगम क्षेत्र में घरों की छतों पर लगे विज्ञापन होर्डिंग्स लगाने वालों से कर वसूला जाएगा। आवासीय कर का तीन गुना कर कामर्शियल विज्ञापन पर लगेगा और उसका 75 फीसदी कर निगम को देना होगा। ओवरब्रिज पर विज्ञापन लगाने के लिए टेंडर कर आय बढ़ाई जाएगी। नगर निगम क्षेत्र में रेलवे और कैंट बोर्ड द्वारा विज्ञापन लगाने पर भी निगम को कर देना होगा। अभी तक नगर निगम सीमा में रेलवे भूमि पर विज्ञापन लगाने का कर रेलवे नहीं देता था।

Advertisement

विज्ञापन प्रभारी अपर नगर आयुक्त ने आय बढ़ाने के लिए उन जगहों पर सख्ती कर दी है, जहां-जहां से विज्ञापन से आय हो सकती है। नगर निगम सीमा में विज्ञापन लगाने में अभी तक निगम में बड़ी बंदरबांट चल रही थी। शहर में अवैध होर्डिंग्स तो लगा दिए गए थे लेकिन उनका टैक्स निगम के खाते में नहीं आ रहा था। अब ऐसी व्यवस्था की गई है कि नगर निगम सीमा में जो भी एजेंसी विज्ञापन लगाएगी उसे टैक्स जमा करना ही होगा। सड़कों व डिवाइडरों पर विज्ञापन के लिए एक कंपनी को ठेका दिया गया है, लेकिन उस विज्ञापन में घर की छत, ओवरब्रिज को शामिल नहीं किया गया है।

Advertisement

शहर में चौराहों, एंट्री गेट, डिवाइडरों पर कियाेस्क आदि लगाने के लिए आनलाइन हुए टेंडर में सबसे ज्यादा राशि देने वाले एजेंसी को शहर में होर्डिंग्स लगाने का काम दे दिया गया है। एजेंसी को कहां-कहां और किन नियमों का पालन करते हुए विज्ञापन लगाने हैं इसकी जानकारी शर्तों में शामिल की गई है। इससे चौराहों पर बेतरतीब ढंग से लगने वाले विज्ञापन होर्डिंग्स नहीं लग पाएंगे। चौराहे पर 40 मीटर रेडियस में ही होर्डिंग्स लगाए जा सकेंगे। पिछले वर्ष नगर निगम ने विज्ञापन से दो करोड़ की आय की थी। इसमें बंदरबांट शामिल नहीं थी।

छतों पर लगे विज्ञापनों से होगी आय
निगम ने घर की छतों पर लगे विज्ञापन होर्डिंग्स से 75 फीसदी टैक्स वसूलने की तैयारी की है। शहर में कितनी छतों पर विज्ञापन लगाए गए हैं, इसका पता लगा लिया गया। छतों पर कितने क्षेत्र में विज्ञापन लगाया गया है इसकी नाप करके उस पर टैक्स लगाया जाएगा। शहर में पाश इलाकों में सड़क किनारे घरों की छतों पर बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगे हैं। स्टेशन रोड, राजेन्द्र नगर, डीडीपुरम, प्रेमनगर, नैनीताल रोड, पीलीभीत रोड, बीसलपुर रोड, 100 फुटा रोड आदि इलाके में घरों की छतों पर लगे विज्ञापनों का टैक्स भी निगम के खजाने में जमा होगा। इसके अलावा ओवरब्रिज पर लगे पोल पर लगने वाले विज्ञापनों के लिए टेंडर जारी करने की तैयारी है।

वर्ष 2020 में निगम में विज्ञापन से 78 लाख रुपये की आय हुई थी। पिछली बार यह आय दो करोड़ हुई। इस साल का लक्ष्य 4.5 करोड़ से ऊपर ले जाना है। तीन साल में इस आय को 4.78 करोड़ करने का लक्ष्य है। ताकि खुद को भी यह गर्व हो सके कि तीन साल में निगम की आय में 4 करोड़ का इजाफा किया है।- अजीत कुमार सिंह, अपर नगर आयुक्त द्वितीय

ये भी पढ़ें- बरेली: 13 अगस्त को वरिष्ठ नागरिक संस्था मनाएगी अमृत महोत्सव

 

 

Advertisement