घरेलू कलह के चलते डॉक्टर ने लगाई फांसी, व्‍हाट्सएप पर स्‍टाफ को मैसेज…

0
51

इटावा। उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के फ्रैंडस कालौनी इलाके के पंजाबी कालोनी में शुक्रवार को एक दंत चिकित्सक ने फांसी लगाकर जान दे दी। पुलिस अधीक्षक नगर कपिल देव सिंह ने बताया कि डॉ. सिद्धार्थ राहुल (38) का शव फ्रैंडस कालोनी इलाके के पंजाबी कालोनी स्थित आवास पर लटका पाया गया। घर के नीचे वाले हिस्से में डेंटल केयर नाम से क्लीनिक खोले हुए थे।

Advertisement

उन्होंने क्लीनिक के स्टाफ के एक सदस्य दीपक को वाट्सएप पर मैसेज किया कि अब हम दुनिया छोड़कर चले जाएंगे। मैसेज पढ़कर दीपक को शाक लगा और उन्होंने डाक्टर के घर के एक हिस्से में किराये पर रह रहे मुस्तकीम को काल कर मैसेज के बारे में बताया। तकिया ट्रांसपोर्ट में वाहनों की बाडी बनाने वाले मुस्तकीम ने जब ऊपर जाकर देखा तो कमरे का ताला लगा पाया।

क्लीनिक पर दीपक के अलावा हिमांशु, चालक महेश सहित करीब सात लोगों का स्टाफ काम करता है। मुस्तकीम ने सभी को काल करके डॉक्टर का कमरा अंदर से बंद होने के बारे में जानकारी देते हुए अनहोनी की आशंका जताई। इस पर स्टाफ के सभी लोग तुरंत मौके पर पहुंच गए और ताला तोड़कर धोती के फंदे से डाक्टर को उतार कर जिला अस्पताल पहुंचाया तो डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि परिजनों से मिली जानकारी के अनुसार दांपत्य रिश्ते में तकरार बढ़ने के बाद डॉ. सिद्धार्थ राहुल की पत्नी आशी मायका सन सिटी बरेली में करीब छह वर्ष से रह रही है। उसका सात वर्ष का पुत्र सिद्धांत है। डॉक्टर और आशी के बीच गुजारा भत्ता के दावे को लेकर न्यायालय में मुकदमा चल रहा है। इसी को लेकर डॉक्टर तनावग्रस्त रहते थे। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

यह भी पढ़ें:-बहराइच: अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार की मौत, परिजनों में कोहराम