गुरु के सामने भूलकर भी नहीं करनी चाहिए ये गलतियां ,जानिए इनके बारे में

0
16

आषाढ़ माह की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा कहा जाता है शास्त्रों में गुरु को ईश्वर से भी बड़ा दर्जा दिया गया है इसलिए इस दिन गुरु पूजन का विशेष महत्व होता है यह दिन महर्षि वेदव्यास को समर्पित है और इस दिन बृहस्पति की भी पूजा की जाती है गुरु पूर्णिमा के कुछ खास नियम होते है आज हम आपको उन गलतियों के बारे में बताएंगे जो कभी भी गुरु के सामने नहीं करनी चाहिए 

pic
शास्त्रों के अनुसार गुरु के आसन पर शिष्य को कभी नहीं बैठना चाहिए गुरु का दर्जा भगवान से भी ऊपर होता है इसलिए गुरु के आसन पर बैठना न केवल गुरु का अपमान है बल्कि ईश्वर की भी अवमानना है 
गुरु के सामने किसी भी चीज का सहारा लेकर ना खड़े हो उनके मुख की तरफ कभी पैर करके नहीं बैठना चाहिए ऐसा करने से भी गुरु का अपमान होता है 
गुरु के सामने कभी अभद्र भाषा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए अक्सर गुस्से में लोगों की जुबान से कुछ निकल जाता है तो क्षमा मांग लेनी चाहिए 

pic
गुरु के सामने आकर कभी दौलत शोहरत का रौब नहीं दिखाना चाहिए याद रहे की गुरु की वाणी का एक -एक शब्द आपकी तमाम संपत्ति पर भारी है उनके ज्ञान का मोल कभी नहीं चुकाया जा सकता है
हमें भूलकर भी कभी भी गुरु की बुराई नहीं करनी चाहिए और अगर कोई इंसान ऐसा काम करता है तो उसे रोकना चाहिए