कॉमनवेल्थ ग्रेम्स से मायूस होकर लौटेंगी सीमा पूनिया…जानें वजह

0
25

Advertisement

मेरठ। जिले की बहू सीमा पूनिया इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक को हासिल करने में चूक गईं। इस बार सीमा को कॉमनवेल्थ गेम्स से निराश होकर लौटना पड़ रहा है। बता दें कि, बुधवार को बर्मिंघम में कॉमनवेल्थ गेम्स में हुए डिस्कस थ्रो के मुकाबलों में सीमा बेहतरीन प्रदर्शन नहीं कर सकीं और पदक उनके हाथ छूट गया। सीमा का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 55.92 मीटर रहा।

Advertisement

बता दें कि नाइजीरिया की चियोमा ओनयेकवेयर ने 61.70 मीटर थ्रो कर स्वर्ण पदक को हासिल किया था। वही इंग्लैंड की जेड लैली सिल्वर जीता। जबकि नाइजीरिया की ही ओबियागेरी अमाइची में ब्रॉन्ज मेडल जीत लिया है। इस मुकाबले में सीमा पांचवें स्थान पर रहीं।

Advertisement

आपको बता दें कि पहली बार सीमा पूनिया कॉमनवेल्थ गेम्स से खाली हाथ लौटेंगी। वह इन खेलों में पदक हासिल नहीं कर सकी। इससे पहले सीमा ने मेलबर्न कॉमनवेल्थ गेम्स 2006, ग्लास्गो 2014 और गोल्ड कोस्ट 2018 में रजत पदक जीता था और दिल्ली में 2010 में राष्ट्रमंडल खेलों में सीमा ने कांस्य पदक हासिल कर मेरठ शहर का पचरम बुंलद किया था।

बता दें कि सीमा का जन्म हरियाणा के सोनीपत जिले में हुआ था। उनके भाई आनंदपाल सिंह कुश्ती, अमितपाल सिंह हॉकी खिलाड़ी हैं। शुरूआती दौर से परिवार में खेलों का माहौल था। पिछले पांच सालों से उनका पति अंकुश पूनिया से विवाद चल रहा था। पिछले मई में सीमा अपने पति से अलग हुई थीं। अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर उन्होंने अपने नाम के आगे से पूनिया हटाकर अंतिल जोड़ लिया था। पति अंकुश मेरठ मोदीपुरम में स्पोर्ट्स एकेडमी चलाते हैं।

यह भी पढ़ें:- CWG 2022 : राष्ट्रमंडल खेलों में पीवी सिंधु की निगाहें स्वर्ण पदक जीतने पर, जानिए पेरिस ओलंपिक के बारे में क्या कहा?

Advertisement