HomeSportsकॉमनवेल्थ गेम्स में प्रियंका गोस्वामी-अविनाश साबले का कमाल, जीता सिल्वर मेडल

कॉमनवेल्थ गेम्स में प्रियंका गोस्वामी-अविनाश साबले का कमाल, जीता सिल्वर मेडल

[ad_1]

Advertisement

बर्मिंघम। इंग्लैंड के बर्मिंघम में खेले जा रहे 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स के नौवें दिन प्रियंका गोस्वामी और अविनाश साबले ने भारत के लिए मेडल जीता है। शनिवार को  प्रियंका गोस्वामी ने महिला 10 किमी रेस वॉक में ऐतिहासिक रजत पदक हासिल किया। स्टीपलचेजर अविनाश साबले ने 3000 मीटर रेस में सिल्वर मेडल अपने नाम किया। प्रियंका ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 10,000 मीटर की दूरी को 43:38.00 मिनटों में पूरा किया, जबकि ऑस्ट्रेलिया की जेमीमा मॉनटाग ने 42:34.00 के समय के साथ स्वर्ण पदक हासिल किया।

Advertisement

Image

Advertisement

प्रियंका ने सीटी बजते ही ट्रैक पर बढ़त हासिल कर ली और 4,000 मीटर के बाद वह पहले स्थान पर थीं। इसके कुछ देर बाद ही वह जेमीमा और केन्या की एमिली वामुस्यी एन्जी से पिछड़ गईं। जब प्रतियोगिता में सिर्फ दो किमी की दूरी बची थी, तब प्रियंका ने शानदार वापसी करते हुए केन्या की प्रतिद्वंदी को पछाड़ा और रजत पदक हासिल किया। यह ट्रैक एंड फील्ड आयोजनों में मुरली श्रीशंकर (लंबी कूद में रजत) और तेजस्विनी शंकर (ऊंची कूद में कांस्य) के बाद भारत का तीसरा पदक है। इसी के साथ प्रियंका रेसवॉकिंग में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला भी बन गईं। वह इस खेल में राष्ट्रमंडल पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय खिलाड़ी भी हैं। इससे पहले, हरमिंदर सिंह ने दिल्ली 2010 खेलों की 20 किमी रेसवॉकिंग प्रतियोगिता में कांस्य जीता था।

दिव्या और मोहित ने जीते कांस्य
दिव्या काकरान (महिला 68) और मोहित ग्रेवाल (पुरुष 125) ने बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में कांस्य पदक जीत लिए हैं। दिव्या काकरान ने शुक्रवार को टोंगा की टाइगर लिली लेमाली को मात देकर कांस्य पदक जीता। दिव्या ने कांस्य पदक मैच में टाइगर लिली को हराने के लिये सिर्फ 26 सेकंड का समय लिया। दिल्ली स्टेट चैंपियनशिप में 60 पदक जीत चुकी दिव्या ने मैच शुरू होते ही टाइगर लिली को अपनी गिरफ्त में कस लिया और उन्हें चित्त (विन बाई फॉल) करके मुकाबला जीता। मोहित ग्रेवाल ने 125 किग्रा के कांस्य पदक मैच में जमैका के आरोन जॉनसन को चित्त करके कांस्य पदक प्राप्त किया। भारत बर्मिंघम 2022 में अब तक 27 पदक जीत चुका है, जिसमें से छह पदक कुश्ती से आये हैं। साथ ही भारत नौ स्वर्ण पदकों के साथ पदक तालिका में पांचवें स्थान पर आ गया है।

मुक्केबाज अमित पंघाल और नीतू गंघास फाइनल में, रजत पदक पक्के
भारतीय मुक्केबाज अमित पंघाल ने शनिवार को यहां राष्ट्रमंडल खेलों की पुरूषों की फ्लाईवेट स्पर्धा में फाइनल में प्रवेश किया जबकि नीतू गंघास भी महिलाओं के (45-48 किग्रा) मिनिममवेट के फाइनल में पहुंच गईं जिससे दोनों के रजत पदक पक्के हो गये। सबसे पहले रिंग में उतरी नीतू ने सेमीफाइनल में कनाडा की प्रियंका ढिल्लों को आरएससी (रैफरी द्वारा मुकाबला रोकना) से पराजित कर अपना रजत पदक पक्का किया। अब वह फाइनल में मेजबान देश की रेश्जटान डेमी जेड के सामने होंगी। इसके बाद पंघाल ने सेमीफाइनल में जिम्बाब्वे के पैट्रिक चिनयेम्बा को सर्वसम्मत फैसले में 5-0 से पराजित किया। सात अगस्त को फाइनल में उनका सामना इंग्लैंड के मैकडोनल्ड कियारन से होगा।

ये भी पढ़ें : CWG 2022 : सेमीफाइनल में भारतीय महिला हॉकी टीम से हुई ‘बेईमानी’, सोशल मीडिया पर फैंस ने जताई नाराजगी

Advertisement



[ad_2]

Source link

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments