कटीले तारों से शख्स की कटी सांस व आहार की नली, डॉक्टरों ने..

0
24

Advertisement

लखनऊ, अमृत विचार । केजीएमयू के डाक्टरों ने सर्जरी कर एक ऐसे मरीज की जान बचाने में कामयाबी हासिल की है,जिसकी सांस व खाने की नली एक साथ कट गयी थी। मरीज की जांन बचाने के लिए डॉक्टरों की एक टीम लगातार चार घंटे से भी अधिक समय तक जुटी रही,तब कहीं जाकर मरीज की जान बच सकी है। केजीएमयू में चिकित्सकों ने इस तरह की सर्जरी पहली बार की है। बताया जा रहा है मरीज अब स्वस्थ है,लेकिन डॉक्टर अभी मरीज पर नजर बनाये हुये हैं।

Advertisement

दरअसल,सीतापुर स्थित लहरपुर निवासी एक 28 वर्षीय शख्स उस समय घायल हो गया,जब वह एक पशु को बचाने की कोशिश कर रहा था। बताया जा रहा है कि पशु को बचाने के चक्कर मे युवक कटीले तारों से रगड़ गया। जिससे उसका गला कट गया और खाने व सांस की नलियां कटकर लटक गई। आनन-फानन में परिजनों ने मरीज को सीतापुर से महज दो घंटे में केजीएमयू के ट्रामा सेंटर पहुंचाया,वहां पर सभी जांचों के बाद चिकित्सकों की टीम ने सर्जरी शुरू कर दी। साढ़े चार घंटे चली सर्जरी के बाद चिकित्सक मरीज की जान बचाने में कामयाब रहे। करीब पांच दिन बाद मरीज स्वस्थ बताया जा रहा है।

Advertisement

केजीएमयू के थोरेसिक विभाग के डॉ शैलेन्द्र ने बताया कि उन्होंने पहली बार इस तरह की सर्जरी की है, जिसमें खाने व सांस की नली एक साथ कट गयी हो। गौरतलब है कि डॉ.शैलेन्द्र जाने माने केजीएमयू के थोरेसिक सर्जन है।

 

सर्जरी करने वाली टीम

मुख्य चिकित्सक – डॉ शैलेन्द्र, थोरेसिक विभाग

सहयोग – डॉ विजय कुमार, प्लास्टिक सर्जरी

डॉ यादवेंद्र, ट्रामा सर्जरी

डॉ तन्मय, एनेस्थीसिया

डॉ जिया अरशद, एनेस्थीसिया

यह भी पढ़ें –लखनऊ : रील का जुनून जिंदगी पर पड़ा भारी, वीडियो बनाते समय गोमती में बहे तीन दोस्त, मचा हड़कंप

Advertisement