एनआरसी में भर्ती बच्चों का समय से हो रेफरल, लिया जाए फीडबैक

0
15

बहराइच। केंद्र और प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य विभाग की टीम ने जिला अस्पताल, हुजूरपुर सीएचसी और एनआरसी का निरीक्षण कर सुविधाएं जांची। स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार पर टीम ने स्वास्थ्य और जिला प्रशासन को और बेहतर कार्य करने के निर्देश दिए।
अपर आयुक्त डॉक्टर सुमिता घोष के नेतृत्व में परिवार कल्याण एवं स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार की टीम द्वारा जनपद बहराइच का भ्रमण कर स्वास्थ्य सेवाओं का जायजा लिया गया।

Advertisement

भ्रमण के दौरान उन्होंने बर्नार्ड वैन लीड फाउंडेशन के सहयोग से संचालित “पैरेंट कोचिंग इन फास्ट 1000 देश” कार्यक्रम के अंतर्गत आगा खान फाउंडेशन के सभागार में आयोजित उत्तरदायी देखभाल और शिशु विकास के पड़ाव विषयक आशाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लिया। इस दौरान उन्होंने शिशुओं के आरंभिक विकास के लिए आशाओं द्वारा किए जा रहे प्रयासो पर चर्चा की।प्रशिक्षण के दौरान डॉक्टर घोष ने कहा कि शुरुआती के 1000 दिन किसी भी शिशु के जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। इसके बाद डॉक्टर घोष ने मुख्य चिकित्साधिकारी डॉक्टर सतीश सिंह और जिला कार्यक्रम प्रबंधक सरजू खान के साथ जनपद मे स्वास्थ्य सेवाओं की स्थिति और प्रगति की समीक्षा की।

समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े हुए सभी संकेतकों में आशानुरूप प्रगति हो रही है तथा सुनिश्चित किया जा रहा है कि सभी स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच आम जनमानस के लिए सुनिश्चित की जाए। टीम द्वारा जिला अस्पताल स्थित पोषण एवं पुनर्वास केंद्र में दी जा रही सेवाओं की गुणवत्ता की जांच की गयी और एनआरसी में एड्मिट बच्चों के अभिभावकों से स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता पर फीडबैक लिया गया।

टीम की सदस्य इन्दु द्वारा आरबीएसके टीम को निर्देशित किया गया कि वे आशा और आंगनबाड़ी के सहयोग से सुनिश्चित करें की एनआरसी में बच्चों का समय से रेफरल हो और डिस्चार्ज होने के पश्चात उनका फॉलोअप किया जाए। टीम द्वारा एनआरसी में स्थित प्ले एरिया का निरीक्षण किया गया साथ ही साथ टीम के सदस्यों द्वारा एनआरसी में ऐडमिट बच्चों को खिलौनों का वितरण किया गया। इसके बाद टीम ने सीएचसी हुजूरपुर का निरीक्षण किया। इस दौरान प्राचार्य महाराजा सुहेलदेव मेडिकल कॉलेज डॉक्टर ए.के.साहनी, जिला संयुक्त अस्पताल से मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर एम.एम.एम त्रिपाठी एवं जिलास्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहेI

उसके बाद टीम द्वारा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चिरैयाटांड हुजूरपुर का निरीक्षण किया गया। इस दौरान डॉक्टर घोष द्वारा बर्नार्ड वैन लीर फाउंडेशन के वित्तीय सहयोग से आगा खाँ फाउंडेशन द्वारा निर्मित रोगी प्रतीक्षालय एवं बच्चों हेतु प्लेग्राउंड का फीता काटकर शुभारम्भ किया गया। डॉक्टर घोष द्वारा फाउंडेशन के कार्यों की सराहना की। इस अवसर पर अधीक्षक डॉक्टर संजीव जयसवाल और अस्पताल के विभिन्न अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें:-बरेली: पांच माह में 60 बच्चे कुपोषण का शिकार, एनआरसी वार्ड फुल