एजबेस्टन में भारतीय फैंस के साथ नस्लीय दुर्व्यवहार, ईसीबी ने दिए मामले की जांच के आदेश


बर्मिंघम। वारविकशायर और एजबेस्टन के अधिकारी इंग्लैंड के पांचवें टेस्ट के चौथे दिन भारतीय दर्शकों के खिलाफ की गई नस्लवादी टिप्पणियों की जांच कर रहे हैं। एजबेस्टन ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि कई भारतीय प्रशंसकों ने चौथे दिन का खेल समाप्त होने के बाद सोशल मीडिया पर यह दावा किया था कि उन्हें अन्य प्रशंसकों से नस्लीय दुर्व्यवहार का सामना करना पड़ा।

Advertisement

यॉर्कशायर के पूर्व क्रिकेटर अज़ीम रफीक ने ट्विटर पर इन आरोपों पर रोशनी डालते हुए कहा, “यह पढ़ना बहुत निराशाजनक है।” एजबेस्टन मैदान के आधिकारिक अकाउंट ने रफीक के ट्वीट के जवाब में कहा, “हमें इसे पढ़कर अविश्वसनीय खेद है और किसी भी तरह से इस व्यवहार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। हम इसकी जल्द से जल्द जांच करेंगे।”

इसी बीच, इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने अपने ट्विटर अकाउंट पर पोस्ट किए गए एक बयान में नस्लीय दुर्व्यवहार के आरोपों पर चिंता व्यक्त की है। ईसीबी ने मंगलवार को जारी बयान में कहा, “हम आज के टेस्ट मैच में नस्लवादी दुर्व्यवहार की सूचना मिलने से बहुत चिंतित हैं। हम एजबेस्टन में सहयोगियों के संपर्क में हैं जो जांच करेंगे। क्रिकेट में नस्लवाद के लिए कोई जगह नहीं है। एजबेस्टन एक सुरक्षित और समावेशी वातावरण बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है।”

वारविकशायर काउंटी क्रिकेट क्लब ने भी सोमवार रात एक बयान जारी किया जिसमें एजबेस्टन के मुख्य कार्यकारी स्टुअर्ट कैन ने कहा, “मैं इन रिपोर्टों से प्रभावित हूं क्योंकि हम एजबेस्टन को सभी के लिए एक सुरक्षित, स्वागत योग्य वातावरण बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। उन्होंने कहा, “मैंने शुरुआती ट्वीट्स देखने के बाद घटना पर रोशनी डालने वाले व्यक्ति से व्यक्तिगत रूप से बात की है। अब हम घटना की जानकारी लेने के लिये इस क्षेत्र के प्रबंधकों से बात कर रहे हैं। एजबस्टन में किसी को भी किसी भी प्रकार के दुर्व्यवहार का शिकार नहीं होना चाहिए। एक बार जब हमें सभी तथ्य मिल जाएंगे, तो हम यह सुनिश्चित करेंगे कि इस मुद्दे का तेजी से समाधान किया जाए।”

ये भी पढ़ें : ENG vs IND 5th Test : भारत के हाथ से निकला एजबेस्टन टेस्ट! इंग्लैंड टीम तोड़ सकती है 45 साल पुराना रिकॉर्ड





Source link