Tuesday, June 28, 2022
HomeNationalएक साथ जलीं नौ चिताएं हर आंख हुई नम

एक साथ जलीं नौ चिताएं हर आंख हुई नम

गोला गोकर्णनाथ, अमृत विचार। हरिद्वार से गंगा स्नान कर घर लौट रहे नगर के तीर्थ मोहल्ला निवासी एक ही परिवार के नौ लोगों और पिकअप चालक सहित 10 लोगों की मौत पर नगर में शोक छा गया। पहली बार इतनी बड़ी घटना जिसने सुनी वह दौड़ पड़ा। मृतक के दोनों मकानों में ताला बंद होने से संजीव के मकान के बाहर पुलिस दिन भर बैठी रही। शाम के समय जब शव परिवहन सेवा से चार शव घर पर लाए गए तो महिलाओं की भीड़ उमड़ पड़ी। देर शाम तक नौ शवों की मुक्तिधाम में अंत्येष्टि की गई, जबकि पिकअप चालक के शव को उसके पैतृक गांव दतेली में सुपुर्देखाक किया गया।

Advertisement

नगर के मोहल्ला तीर्थ निवासी लालमन शुक्ला कोतवाली स्थित भोलेनाथ मंदिर पर डेढ़ दशक से पुजारी थे। वह पत्नी सरला और दो पुत्र श्यामसुंदर, कृष्णपाल के साथ एक मकान में रहते थे, जबकि तीसरे मझले पुत्र संजीव का मकान दूसरी गली में स्थित है। संजीव की पुत्री का विवाह पिछले माह तीन मई को मोहम्मदी क्षेत्र से हुआ था। घर में बेटी की शादी के बाद परिवार के लोग पुण्य कार्य समझकर हरिद्वार में गंगा स्नान करने सोमवार की सुबह पिकप से रवाना हुए थे।

पिकअप में ड्राइवर सहित 17 लोग सवार थे।बुधवार की शाम हरिद्वार से वापस चलने पर गुरुवार की सुबह पौने चार बजे पीलीभीत जिले के गजरौला क्षेत्र में ड्राइवर को झपकी आने से पिकप अचानक बेकाबू होकर पलट गई थी। सुबह जब गोला खबर आई तो जिसने भी सुना वह हादसा जानने के लिए उनके तीर्थ मोहल्ला आवास पर दौड़ पड़ा, लेकिन दोनों मकानों में ताला बंद होने से पड़ोसियों के जरिए लोगों ने घटना की जानकारी ली।घटना की खबर पर पास पड़ोस और रिश्तेदार एवं शुभचिंतक पीलीभीत गए।

शाम सवा पांच बजे जब पोस्टमार्टम के बाद शव परिवहन सेवा से पांच शव आए, जिसमें ड्राइवर का शव खुटार रोड स्थित ग्राम दतेली में उतार दिया गया। तीर्थ मोहल्ले में जब चार शव आए तो देखने वाली महिलाओं के आंखों में आंसू आ गए। महिलाओं का कहना था कि उन्होंने इतना बड़ा हादसा पहली बार देखा है। देर शाम पांच शव दूसरे वाहन से आने पर नौ शवों की अंत्येष्टि मुक्तिधाम में की गई।

एएसपी ने कृष्णपाल से ली घटना की जानकारी
शाम को शवों के आने से पहले अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार सिंह ने तीर्थ मोहल्ला पहुंचकर कुछ घायलों के आ जाने पर घटना की जानकारी ली। लालमन के छोटे पुत्र कृष्णपाल ने बताया कि भतीजी की शादी के बाद सभी लोग गंगा स्नान के लिए हरिद्वार गए थे। जिस समय हादसा हुआ है उस समय थके होने के कारण सभी लोग सो रहे थे। एकदम धड़ाम की आवाज होने पर चीख पुकार मच गई। एएसपी ने घायलों को सांत्वना दी।

विधायक अनुज ने पीलीभीत अस्पताल में जाना हालचाल
विधायक अरविंद गिरि के नगर से बाहर होने से उनके छोटे भाई धर्मेंद्र गिरि मोंटी और ब्लाक प्रमुख विमल वर्मा पीलीभीत अस्पताल पहुंचे, जहां उन्होंने घायलों का हालचाल जाना। मृतकों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की भगवान भोलेनाथ से प्रार्थना की।

ये भी पढ़ें- लखीमपुर-खीरी: तीसरी आंख नहीं कर रही काम, कैसे हो बदमाशों की निगरानी

 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -