इरादों को पूरा करने वादों का दौर

भोपाल। प्रदेश में नगरीय निकाय की चुनाव को लेकर चुनाव प्रचार जहां चरम पर पहुंचने लगा है पार्षद और मेयर प्रत्याशी घर-घर दस्तक दे रहे हैं और जीत के इरादों को पूरा करने के लिए एक बार फिर वादों की झड़ी लग गई है कैसे भी हो मतदाताओं को मनाने के हर जतन पूरे किए जा रहे हैं। दरअसल, अगले बरस होने वाले विधानसभा के आम चुनाव के कारण इस बार नगरीय निकाय के चुनाव दोनों ही दलों के लिए बेहद महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। इस कारण दोनों दलों के नेता अपनी पूरी ताकत इन चुनावों में झोंक रहे हैं। सबसे ज्यादा राजनीतिक दलों की दिलचस्पी 16 नगर निगमों के चुनाव वाले क्षेत्रों में है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पूरी कोशिश कर रहे हैं कि एक बार इन नगरीय क्षेत्रों में रोड शो या आम सभा करने जरूर पहुंचा जाए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अब तक आधा दर्जन क्षेत्रों में पहुंच चुके हैं। और कमलनाथ जी हर दिन किसी ना किसी नगरीय क्षेत्र में पहुंच रहे हैं। इन क्षेत्रों में पहुंच कर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जहां प्रदेश सरकार की उपलब्धियों का बखान करते हैं। वहीं कांग्रेश के 15 माह के शासनकाल पर हमला बोलते हैं जबकि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भाजपा से सवाल करते हैं कि प्रदेश में इतने बरसों से भाजपा के विधायक भाजपा के महापौर और भाजपा की सरकार है फिर भी शहरों का विकास क्यों नहीं हुआ।

बहरहाल, नगरीय निकाय के चुनावों को जीतने के लिए दोनों ही दल भाजपा कांग्रेस कोई कसर नहीं छोड़ ना चाहते हैं। सोमवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जहां बुंदेलखंड क्षेत्र के छतरपुर, पन्ना और सागर में पहुंचे और यहां रोड शो किया। 28 जून को चौहान बुरहानपुर, खंडवा और इंदौर में चुनावी प्रचार करेंगे।

वही. पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सोमवार को राजधानी भोपाल में भोपाल नगर निगम पर केंद्रित घोषणा पत्र जारी किया जिसमें भादो की झड़ी लगा दी गई। खासकर संपत्ति कर आधा और पानी का बिल ” 50 महीने करने की घोषणा की थी। साथ ही भोपाल को टूरिस्ट एवं फिल्म सिटी बनाने का वादा किया गया है। मेयर रोजगार योजना के जरिए युवाओं को रोजगार से जोड़ने का संकल्प लिया गया है एवं मेयर हेल्पलाइन के जरिए लोगों की समस्याओं के निराकरण की पुख्ता व्यवस्था करने का भी संकल्प लिया गया है।

इसी तरह के घोषणा पत्र कांग्रेस सभी नगर निगम क्षेत्रों में अलग-अलग जारी करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ सोमवार को सतना में प्रत्याशी के पक्ष में रोड शो किया एवं भाजपा सरकार पर हमला करते हुए कहा कि 2023 में प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनेगी और तब शहरों का विकास गति पकड़ेगा 28 और 29 जून को कमलनाथ उज्जैन एवं ग्वालियर में रोड शो करेंगे।
कुल मिलाकर शहर सरकार के लिए भाजपा और कांग्रेस नगर निगम क्षेत्रों में एक तरफ जहां रोड शो सभाएं और जनसंपर्क कर रहे हैं वही घोषणा पत्र के माध्यम से ऐसे वादे किए जा रहे हैं जिससे जीत के इरादे पूरे हो सकें। भाजपा ने घोषणापत्र तैयार करने में खासी मेहनत की है और एक-दो दिन में जारी करेगी।