इमरान खान की बढ़ी मुश्किलें, फंडिंग मामले में पाए गए दोषी

Advertisement

इस्लामाबाद। पाकिस्तान चुनाव आयोग (ईसीपी) ने निषिद्ध फंडिंग मामले में मंगलवार को अपने सर्वसम्मत फैसले में इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) को विदेश से प्रतिबंधित धन प्राप्त करने का दोषी ठहराया। इतना ही नहीं चुनाव आयोग ने पीटीआई को एक रेड नोटिस जारी कर पूछा था कि इस धन को जब्त क्यों नहीं किया जाना चाहिए। यह नोटिस इमरान खान के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है। मुख्य चुनाव आयुक्त (सीईसी) सिकंदर सुल्तान राजा के नेतृत्व वाली तीन सदस्यीय पीठ ने आज अपने फैसले में यह घोषणा की।

Advertisement

ईसीपी के फैसला सुनाये जाने की घोषणा से पहले फ़ाइनेंशियल टाइम्स ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया है कि पीटीआई को अबराज के संस्थापक आरिफ नकवी से संबंधित वूटन क्रिकेट क्लब से धन प्राप्त हुआ था और यह धन एक चैरिटी मैच के माध्यम से अर्जित किया गया था।

Advertisement

एफटी रिपोर्ट ने पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) को राजनीतिक सज्जा प्रदान किया और उन्होंने पीटीआई के संस्थापक सदस्य अकबर एस बाबर द्वारा 2014 में दायर किए गए मामले में फैसले की जल्द घोषणा की मांग की। रिपोर्ट के मुताबिक बाबर ने खान को बार-बार समझाया कि पीटीआई के कुछ शीर्ष नेता वित्तीय गड़बड़ी में शामिल थे।

इसके बावजूद पीटीआई अध्यक्ष ने उनकी तरफ से आंखें मूंद लीं और अंततः पूर्व-पीटीआई नेता ने पाकिस्तान चुनाव आयोग के समक्ष यह मामला उठाया। सूत्रों ने यह भी कहा कि यदि पीटीआई सीईसी के खिलाफ जाएगी तो वह केवल खुद को ही नुकसान पहुंचाएगी। क्योंकि कुछ मामले जो पहले जनता की नजरों के सामने नहीं आये थे वे भी सुनवाई के दौरान सामने आएंगे। उन्होंने कहा कि ईसीपी एक संवैधानिक संस्था है

ये भी पढ़ें:- Commonwealth Games 2022 LIVE : भारतीय वेटलिफ्टर पूनम यादव ने उठाया 98 KG वजन, अब गोल्ड मेडल पर नजरें

Advertisement