आरएसएस दफ्तरों को उड़ाने की धमकी देने वाला निकला पीएफआई…

0
11

लखनऊ। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के उन्नाव, लखनऊ समेत देश में स्थापित कई कार्यालयों को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी राज मोहम्मद पीएफआई का सक्रिय सदस्य है। इसका खुलासा यूपी एटीएस ने अपने पूछताछ में किया है। एटीएस ने दावा किया है कि आरोपी राज मोहम्मद ने स्वीकारा है कि उसने 2018 से 2021 के बीच पीएफआई और एसडीपीआई के सक्रिय सदस्य के तौर पर काम किया है। 2021 के बाद अपनी गतिविधियां बताने से बच रहा है। साथ ही बताया है कि माहौल खराब करने की थी साजिश के लिए ऐसा उसने किया था।

Advertisement

रिमांड पर उगला कई राज यूपी एटीएस आरोपी राज मोहम्मद को रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है जल्द और कई मामले का खुलासा हो सकेगा। बता दें कि कई आरएसएस कार्यालय को बम से उड़ाने की धमकी देने वाले राज मोहम्मद को सात जून को तमिलनाडु से गिरफ्तार किया था। उसके खिलाफ मड़ियाव थाना में प्रदेश के लखनऊ, उन्नाव के साथ कई राज्यों के आरएसएस कार्यालय को बम से उड़ाने के मामले में एफआईआर दर्ज है। इस मामले में पुलिस के अलावा कई जांच एजेंसियां भी तहकीकात कर रही है।

वाइस रिकार्डिंग से लिखा था मैसेज

सूत्रों की माने तो आरोपी राज मोहम्मद के पास से मिले मोबाइल को फॉरेंसिक लैब भेजा गया। जिससे कई अहम जानकारियां हाथ लगने की संभावना है। इसी मोबाइल से धमकी वाला मैसेज भेजा गया था। जांच में सामने आया है कि बम से उड़ाने की धमकी वाले मैसेज उसने तमिल में वॉइस रिकॉर्डिंग के जरिए लिखा था। जिसके बाद उस मैसेज को हिंदी और अंग्रेजी में ट्रांसलेट कर आरएसएस के लोगों को वॉट्स-ऐप पर भेजे थे।

यह भी पढ़ें:-Kerala HC ने आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या की मांगी जांच रिपोर्ट