Sunday, June 26, 2022
HomeRegionalअब जिला महिला चिकित्सालय में गर्भवती महिलाओं की होगी कॉस्मेटिक सर्जरी,

अब जिला महिला चिकित्सालय में गर्भवती महिलाओं की होगी कॉस्मेटिक सर्जरी,

मुरादाबाद,अमृत विचार। जिला महिला चिकित्सालय में कॉस्मेटिक सर्जरी और दूरबीन विधि से नसबंदी शुरू हो गई है। जी हां, वह भी निःशुल्क। शुक्रवार से शुरू हुई इन सेवाओं का कई महिलाओं ने लाभ लिया है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डॉ. सुनीता पाण्डेय ने बताया कि महिला अस्पताल की नई बिल्डिंग में गर्भवती महिलाओं की अब कॉस्मेटिक सर्जरी भी शुरू हो गई है। इसके लिए अत्याधुनिक ऑपरेशन थियेटर (ओटी) तैयार कर लिया गया है। जिन गर्भवती का चिकित्सक से परामर्श के बाद ऑपरेशन से ही बच्चा होना तय है, केवल उन्हीं गर्भवती को यह सुविधा मिलेगी। इमरजेंसी वाले मामलों को इस सुविधा से वंचित रखा गया है।

Advertisement

फिलहाल डॉ. पारूल सिंह और डॉ. नीतू वर्मा की टीम इसका कार्यभार देख रही हैं। उन्होंने बताया कि सिजेरियन के बाद गर्भवती के पेट पर टांके के निशान दिखते हैं। इस सर्जरी के बाद केवल एक टांके का ही निशान दिखाई देगा।
पहले दिन डा. पारुल सिंह, एनेस्थेटिक डा. रनवीर सिंह, पीडिएट्रिक डा. अंशुमनी व स्टाफ गणपत और गौरव गुप्ता की देखरेख में कॉस्मेटिक सर्जरी हुई । इस समय मुख्य चिकित्सा अधीक्षक भी मौजूद रहीं।

नर्स मैंटर नैंसी सिंह ने बताया कि दूरबीन विधि से नसबंदी शुरू कराने के लिए क्वालिटी सर्कल की मीटिंग में और वरिष्ठ परिवार नियोजन विशेषज्ञ टीएसयू मीरा गौतम की ओर से बार-बार प्रयास किए जा रहे थे। जिस पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका की ओर से कार्रवाई की गयी। पहले दिन दूरबीन विधि से जनरल सर्जन डा. रविन्द्र कुमार ने नसबंदी की।

सोनम सैनी ने करवाई कॉस्मेटिक सर्जरी 
यहां कॉस्मेटिक सर्जरी की पहली मरीज सोनम सैनी ने बताया कि मुझे गर्भावस्था के नौ महीने पूरे हो गये थे, लेकिन कोई दर्द नहीं हो रहा था। चिकित्सक से परामर्श के बाद सिजेरियन डिलीवरी का फैसला लिया गया। इसी दौरान डाक्टर ने कॉस्मेटिक सर्जरी के बारे में भी जानकारी दी। जिस पर मैंने और परिवार के सदस्यों ने हामी भरी।
वहीं दूरबीन विधि से नसबंदी करवाने वाली पहली महिला ने अंजली सिंह ने बताया कि मेरे दो बच्चे हैं, अब परिवार पूरा हो चुका है। इसलिए नसबंदी कराने के लिए अस्पताल आई थी। यहां आने पर दूरबीन विधि से हो रही नसबंदी का पता चला तो वही करवा ली।

महिला अस्पताल की नई बिल्डिंग में ही होंगे गर्भवती के एडमिशन
अब अस्पताल में दोपहर तक डिलीवरी के लिए आने वाली गर्भवती की भर्ती महिला अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग के बजाए नई बिल्डिंग में होने लगी है। सुबह की शिफ्ट में जो भी गर्भवती आएंगी, उनको वहीं पर एडमिट किया जाएगा। इसके अलावा अगर किसी गर्भवती को खून चढ़ना, चक्कर आना, डिलीवरी से पहले ब्लाडिंग होना जैसी परिस्थिति में भी नई बिल्डिंग में ही भर्ती होगी। केवल गर्भवती की इमरजेंसी और नार्मल डिलीवरी अभी भी पुराने महिला अस्पताल में ही होगी।

ये भी पढ़ें : मुरादाबाद : भंग होगी सीडब्ल्यूसी अमरोहा, आयोग ने लिखा पत्र

RELATED ARTICLES
- Advertisment -