SHARE

वर्कआउट या कसरत माना जाता है शरीर के लिए बड़ा ही फायदेमंद होता है। वर्कआउट एक एडिक्शन जैसा है जिसको इसका नशा चढ़ गया फिर उतरता नहीं। पर कई बार वर्कआउट करना हमारे लिए महंगा पड़ जाता है। कई बार वर्कआउट के दौरान हम इतना लीन हो जाते हैं की वर्कआउट पर उप्रयुक्त समय से ज्यादा वक़्त व्यतीत करने लगते है। ऐसा करना बेशक ही घातक है।

जब हम वर्कआउट करने से होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में बात करते हैं तो बात करते ही जाते हैं, सही है न? हालाँकि कहा जाता है कि किसी भी चीज़ की अति करना अच्छा नहीं होता अत: वर्तमान में किये गए एक अध्ययन से पता चला है कि बहुत अधिक वर्कआउट करने से पुरुषों में स्पर्म (शुक्राणु) की संख्या में कमी आ सकती है जिसके कारण प्रजनन से संबंधित समस्याएं हो सकती हैं। अधिकतर पुरुष एक निश्चित उम्र के बाद ही परिवार और बच्चे चाहते हैं।

अत: कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत आवश्यक है जो आपके स्पर्म की संख्या और उसकी क्वालिटी को प्रभावित कर सकती हैं। तो बहुत अधिक वर्कआउट स्पर्म की संख्या को कैसे प्रभावित करता है? आइये इस लेख में जानें।

तथ्य #1

तथ्य #1

यह शोध 25-40 वर्ष की आयु वाले 261 स्वस्थ और शादीशुदा पुरुषों पर किया गया। इन लोगों को अध्ययन का विषय बनाया गया।

 तथ्य #2

 

तथ्य #2

इन 261 लोगों को 2 समूहों में बांटा गया। एक समूह को बहुत अधिक तीव्रता वाले वर्कआउट करने के लिए कहा गया जबकि दूसरे समूह को सामान्य कसरत का अभ्यास करने के लिए कहा गया।

तथ्य #3

 

तथ्य #3

सामान्य कसरत में 12 सप्ताह तक प्रतिदिन ट्रेडमिल पर 35 मिनिट वॉकिंग या जॉगिंग शामिल था।

तथ्य #4

 

तथ्य #4

हाई इंटेंसिटी वर्कआउट में 12 सप्ताह तक प्रतिदिन ट्रेडमिल पर 50-60 मिनिट दौड़ना शामिल था।

तथ्य #5

12 सप्ताह के बाद दोनों समूहों के पुरुषों के सीमेन के नमूने लेकर प्रयोगशाला में उनके स्पर्म काउंट (शुक्राणुओं की संख्या) की जांच की गयी और उनका विश्लेषण किया गया।

तथ्य #6

 

तथ्य #6

सीमेन विश्लेषण के बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि वे पुरुष जो हाई इंटेंसिटी वर्कआउट वाले समूह में शामिल थे उनके स्पर्म काउंट दूसरे समूह के पुरुषों की तुलना में कम थे।

तथ्य #7

 

तथ्य #7

हालाँकि समूह के सभी पुरुषों के स्पर्म काउंट कम नहीं थे परन्तु 45% से अधिक पुरुषों के स्पर्म काउंट में परिवर्तन देखा गया।

 तथ्य #8

 

तथ्य #8

शोधकर्ताओं ने यह निष्कर्ष निकाला कि बहुत अधिक वर्कआउट करने से पोषक तत्वों की कमी और वज़न में कमी होने के कारण पुरुषों में स्पर्म काउंट कम हो जाता है।

loading...
loading...